ऐसे करें विटामिन का इस्तेमाल मानसिक बीमारी से बचने के लिए !

आपको जानकार हैरानी होगी कि विटामिन बी की कमी से भी रोग हो सकते हैं ये हमारे शरीर में एक बहुत ही अहम् भूमिका निभाते हैं। जो भी विटामिन और प्रोटीन होते हैं वो हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने का काम करने के साथ-साथ हमारी हेल्थ को बहुत दुरूस्त करने का काम भी करते हैं। यह एक गंभीर मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया के मरीजों का इलाज में विटामीन-बी (बी6, बी8 और बी12) कीे उच्च खुराक से करने से इस रोग के लक्षणों में बहुत भारी कमी आ जाती हैं।

शोधकर्ताओं के मुताबिक सिजोफ्रेनिया एक ऐसी गंभीर मानसिक बीमारी है, जो रोगी को सोचने-समझने, महसूस करने तथा व्यवहार करने की क्षमता को बहुत ही ज्यादा तरीके प्रभावित करती है। निष्कर्षो के मुताबिक, सिजोफ्रेनिया के लक्षणों को कम करने में विटामिन बी की खुराक बहुत ही कारगर हैं। हाल ही एक अध्ययन में ब्रिटेन स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर के मुख्य जोसेफ फर्थ कहते हैं कि सिजोफ्रेनिया के मरीजों को दिए गए विटामिन तथा मिनरल पूरकों के चिकित्सा परीक्षण के अनुसार विटामिन बी का मरीज पर सकारात्मक या सही प्रभाव भी सही पडता हैं।

इस अध्ययन का प्रकाशन सायकोलॉजिकल मेडिसिन नाम की एक पत्रिका में हुआ है। वर्तमान में इसका इलाज एंटीसाइकोटिक दवाओं के माध्यम से किया जाता हैं इन दवाओं से सिजोफ्रेनिया के मरीजों को शुरुआती कुछ महीनों लाभ तो मिलता है, लेकिन पांच वर्ष के अंदर ये दवाएँ प्रभाव से बाहर हो जाती हैं। फर्थ कहते हैं कि , विटामिन बी की उच्च खुराक सिजोफ्रेनिया के मरीजों को लक्षणों से निजात दिलाने में कारगर साबित होती हैं।

यह भी पढ़ें-

जानिए पिस्ता खाने के अनेकों लाभ !