ऐसे पाएं व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या से छुटकारा

Woman with Hands Holding her Crotch Isolated in a White Background

वर्तमान समय में महिलाओ में व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या भी आम देखने को मिलती है, जिसे ल्यूकोरिया भी कहा जाता है। सफेद पानी का मासिक धर्म से पहले या बाद में आना बहुत ही स्वाभाविक हैं लेकिन बहुत अधिक मात्रा में सफेद पानी आना रोग होता है। यह बीमारी किसी भी उम्र की महिला को हो सकती है। शरीर में कमजोरी, इंफेक्शन, गठान, कोई घाव या अलसर के कारण होने वाली इस समस्या में डाइट का बहुत ही ख्याल रखना पड़ता है लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका सेवन इस गंभीर समस्या को और भी बढ़ा देता है। इस बीमारी में अगर पेशेंट इलाज के साथ-साथ इन चीजों से परहेज कर लें तो यह गंभीर समस्या बहुत जल्दी ठीक हो जाती है। आइए जानते हैं व्हाइट डिस्चार्ज में आपको किन चीजों को अवॉइड करना चाहिए।

इन चीजों से करें परहेज

ल्यूकोरिया में महिलाओं को मांस, मछली, मटन, का सेवन कतई नहीं करना चाहिए। इनमें मौजूद एनिमल प्रोटीन शरीर में इंफ्लामेशन को बढ़ाता है, जोकि व्हाइट डिस्चार्ज की गंभीर समस्या को बढ़ावा देता है।

व्हाइट डिस्चार्ज में आपको खमीर वाले फूड्स जैसे- इडली, डोसा आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए। इनका सेवन आपकी प्रॉब्लम को बहुत बढ़ा देता है।

अगर आपको यह प्रॉब्लम है तो भारी, तली हुई, मसालेदार और खट्टी चीजों से पूर्ण्तः दूर बना लें। क्योंकि यह भी ओवरी में इंफ्लामेशन करते हैं।

अपनी डाइट में ब्रेड या मशरूम को भी शामिल न करें। इससे भी ल्यूकोरिया की प्रॉब्लम अत्यधिक बढ़ जाती है।

कड़क चाय, कॉफी, एल्कोहल और कोल्ड ड्रिंक को अधिक पीना इस प्रॉब्लम को बहुत अधिक बढ़ा सकता है।

अपने आहार में मैदा, बेसन, चना, अरहर की दाल, अंडा, अचार, खटाई और लाल मिर्च को भी न सेवन करें। ल्यूकोरिया में इन चीजों का सेवन भी कतई नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

जानिये कैसे, वजन को नियंत्रित करने में बहुत मददगार है गन्ने का जूस