कई बीमारियों का इलाज है यह plant food

वैसे तो सभी प्लांट फूड शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं और उनमें से कुछ फूड बहुत ज्यादा फायदा करते हैं। उन प्लांट में एक है ड्रम स्टीक यानि सहजन। साउथ इंडियन खाने में अधिक मात्रा में इस्तेमाल किए जाने वाले सहजन से शरीर को बहुत तरह के फायदे होते हैं और इसे कई लोग भगवान का तोहफा भी मानते हैं।

इससे ना सिर्फ कई बीमारियां दूर रहती है बल्कि यह कई बीमारियों के लिए दवा का काम भी करता है। इसके पौधे के अलग अलग भागों में कई तरह के पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं। इसकी जड़, पत्ती, फूल और बीज में कई तरह के गुण पाए जाते हैं और इससे शरीर को भरपूर मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, एमिनो एसिड, एंटी-ऑक्सिडेंट मिलते हैं जो कि एक ही प्लांट से मिलना बहुत ही मुश्किल है।

साथ ही इसके नियमित सेवन से लिवर, दिल, ट्यूमर, डायबिटीज आदि बीमारियों में भी बहुत आराम मिलता है। इसमें कई तरह के औषधीय गुण होने की वजह से दक्षिण एशिया में कई दवाइयों में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसकी सबसे बड़ी खास बात ये है कि यह काफी आसानी से उपलब्ध हो जाता है और बहुत सस्ता भी होता है। यह ग्रीन बींस की तरह होता है जबकि इसे मटर आदि की तरह बनाया जा सकता है।

इसकी पत्तियों का पालक की तरह सब्जी बनाकर सेवन किया जा सकता है। सहजन में कैल्शियम की मात्रा अधिक मात्रा में पाई जाने की वजह से यह आपकी हड्डियों के लिए भी बहुत लाभदायक होता है। कई जानकारों का कहना है कि सहजन गर्भवती महिलाओं के लिए भी काफी लाभदायक होता है, क्योंकि इससे महिलाओं को डिलिवरी के दौरान होने वाली दिक्कत से बहुत आराम भी मिलता है।

अगर आप नियमित रुप से सहजन का इस्तेमाल करते हैं तो आपके शरीर में विटामिन सी की कोई कमी नहीं होती है और इसकी वजह से आपका शरीर कई छोटी-मोटी बीमारियों से बचा रहता है। वहीं जुकाम होने पर सहजन के पत्तों को उबालकर उस पानी की भाप लें, ऐसा करने से आपको जुकाम में बहुत आराम मिलता है। सहजन का सूप भी बनाकर पीया जा सकता है और यह खून साफ करने में बहुत काम करता है।

यह भी पढ़ें:

डायबिटीज जैसे गंभीर रोग से बचने के लिए जानिए इन बातों का रखे ध्यान

इन उपायों की मदद से आप बच सकते है माइग्रेन की गंभीर बीमारी से