इस शेयर ने 1 लाख के बनाए हैं 77 लाख रुपये, एक्सपर्ट बोले- 75% की आ सकती है तेजी

टेक्सटाइल बिजनेस पर फोकस्ड एक कंपनी पर स्टॉक मार्केट एक्सपर्ट्स बुलिश हैं। यह कंपनी इंडो काउंट इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ICIL) है। कंपनी, प्योर ग्रे कॉटन यार्न और निटेड फ्रैबिक के प्रॉडक्शन में स्पेशलाइजेशन रखती है। इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के शेयरों ने सोमवार को 119.55 रुपये के स्तर को छुआ

जो कि स्टॉक का 52 हफ्ते का लो-लेवल है। कंपनी के शेयर 119.60 रुपये पर बंद हुए हैं। मार्केट एक्सपर्ट्स का कहना है कि कंपनी के शेयरों में मौजूदा स्टॉक प्राइस से 75 फीसदी का उछाल आ सकता है।

बाय रेटिंग के साथ शेयरों का 210 रुपये का टारगेट प्राइस

ब्रोकरेज कंपनी एडलवाइस ब्रोकिंग लिमिटेड ने इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के शेयरों को बाय रेटिंग दी है और कंपनी के शेयरों के लिए 210 रुपये का टारगेट प्राइस रखा है। यानी, करेंट लेवल से कंपनी के शेयरों में 75 फीसदी की तेजी आएगी

इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के एंटरप्राइजेज का नेटवर्क मौजूदा समय में 54 देशों को एक्सपोर्ट करता है और दुनिया के हर हिस्से में इसके ऑपरेशंस हैं। पिछले 6 महीने में इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के शेयरों में 49 फीसदी की गिरावट आई है। वहीं, इस साल अब तक कंपनी के शेयरों में 53 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है।

1 लाख रुपये के बना दिए 75 लाख रुपये से ज्यादा

इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के शेयरों ने पिछले कुछ सालों में ताबड़तोड़ रिटर्न दिया है। कंपनी के शेयर 22 जून 2012 को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर 1.55 रुपये के स्तर पर थे। कंपनी के शेयर 20 जून 2022 को एनएसई में 119.60 रुपये के स्तर पर बंद हुए हैं।

अगर किसी व्यक्ति ने 10 साल पहले इंडो काउंट इंडस्ट्रीज के शेयरों में 1 लाख रुपये लगाए होते और अपने इनवेस्टमेंट को बनाए रखा होता तो मौजूदा समय में यह पैसा 77.16 लाख रुपये होता। कंपनी के शेयरों का 52 हफ्ते का हाई लेवल 315 रुपये है। वहीं, 52 हफ्ते का लो-लेवल 119.55 रुपये है।

यह पढ़े: पेट्रोल और डीजल नई कीमतें जारी, जानें क्या है ताजा रेट