बारिश के बीच जंगल में फंसी तीन गर्भवती महिलाएं, एक ने बच्ची को दिया जन्म; सभी को किया गया रेस्क्यू

दक्षिणी राज्य केरल के कई इलाके भारी बारिश के चलते बाढ़ का सामना कर रहे हैं। बरसात के बीच जंगल में फंसी तीन गर्भवती महिलाओं को रेस्क्यू टीम से सुरक्षित बाहर निकाला है। ये महिलाएं जंगल के बीचोबीच भारी बारिश के चलते फंस गई थीं। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट और पुलिस की मदद से उन्हें कॉलोनी तक पहुंचाया गया।

तीन में एक महिला ने अस्पताल जाने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद उसने जंगल में ही बच्ची को जन्म दिया। मां और बेटी दोनों ही सुरक्षित हैं। अन्य दो महिलाएं 6 और 7 महीने की गर्भवती हैं। जिला चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम ने तीनों को आश्वस्त किया और बाद में उन्हें चालकुडी तालुक अस्पताल में शिफ्ट किया गया।

स्वास्थ्य मंत्री ने रेस्क्यू टीम को दी बधाई

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने गर्भवती महिलाओं को बचाने वाली टीम को बधाई दी है। बता दें कि राज्य के दक्षिण जिलों में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से शुक्रवार को लोगों को थोड़ी राहत मिली। हालांकि, मौसम विज्ञान विभाग ने राज्य के उत्तरी हिस्से के आठ जिलों के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है।

इन जिलों में बारिश को लेकर ‘ऑरेंज अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने केरल के इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कसारगोड जिलों के लिए भारी वर्षा का पूर्वानुमान व्यक्त करते हुए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है। वहीं, जल संसाधन मंत्री रोशी ऑगस्टाइन ने बताया है कि मुल्लापेरियार जलाशय के तीन द्वार आज खोले जाएंगे ताकि अतिरिक्त पानी छोड़ा जा सके।

यह पढ़े: संसद सत्र के दौरान भी आपराधिक मामलों में सांसदों की हो सकती है गिरफ्तारी, वेंकैया नायडू ने बताए कायदे-कानून