विधानसभा चुनाव से पहले ही गिर सकती है ममता बनर्जी की सरकार!

पश्चिम बंगाल में विधानसभा के चुनाव अप्रैल-मई में होंगे। लेकिन उससे पहले ही ममता बनर्जी की सरकार गिरने के आसार बन गए हैं। बताया जा रहा है कि 19 दिसम्बर को दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह बंगाल जा रहे हैं। शुभेंदु अधिकारी तृणमूल कांग्रेस के कई विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हो सकते हैं। इसके बाद ममता बनर्जी की सरकार अल्पमत में आ जाएगी।

शुभेंदु अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। खबरों तो इनके साथ 70 से ज्यादा विधायक भाजपा का दामन थाम सकते हैं। कई सांसद और टीएमसी जिलाध्यक्ष भी भाजपा की सदस्यता ले सकते हैं।

वर्तमान परिस्थिति की बात करें तो पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी के 219 विधायक हैं। सत्ता में बने रहने के लिए उन्हें 147 विधायकों के समर्थन की जरूरत है। अब अगर 70 से 72 विधायक ममता का साथ छोड़ते हैं तो सरकार में शामिल विधायकों का आंकड़ा घटकर 147 पर आ जाएगा। शुभेंदु पहले ही विधायक पद से इस्तीफा दे चुके हैं, जिसकी वजह से यह घटकर 146 पर रह जायेगी और सरकार अल्पमत में आ जाएगी।

भाजपा के पास पश्चिम बंगाल में फिलहाल 16 सीटें हैं, जबकि गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के दो, कांग्रेस के 23 तथा वाममोर्चा के 24 विधायक हैं। ऐसी परिस्थिति में अगर विधानसभा चुनाव तक सरकार बचाए रखनी है तो वाममोर्चा और कांग्रेस को ममता का समर्थन करना होगा।

इस बार भाजपा ने राज्य की 294 सीटों वाली विधानसभा में करीब 200 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

ममता बनर्जी ने बताया ‘वोट कटवा’ तो ओवैसी ने क्या कहा?