प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने के लिए अब दुसरे राज्यों को लेनी होगी यूपी सरकार से इजाजत

सरकार ने अपने यहाँ से बाहर जाकर काम करने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए बड़ी घोषणा करते हुए कहा की अब जो राज्य सरकारें रोजगार देने के इच्छुक हैं तो उन्हें पहले इसकी इजाजत यूपी सरकार से लेनी होगी।

विदित हो की कोरोना महामारी से निपटने के मद्देनजर केन्द्र सरकार की ओर से जब समुचे देश में कड़ा लॉकडाउन लगाया गया था तब दुसरे राज्यों में कार्य कर रहे यहाँ के मजदूरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था, जिसे देखते हूए यूपी सरकार ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सबको वापस लाने का प्रयास शुरू किया ।

अबतक यूपी सरकार के आँकड़ो के मुताबिक़ 23 लाख कामगार श्रमिकों को उसने वापस लाया है,और सबसे पहले इसी राज्य सरकार ने यह प्रक्रिया भी शुरू की थी।

बीते रविवार को हुए बैठक में ऐसे श्रमिकों को रोजगार के अवसर मुहैया कराने एवं स्किल रोजगार के सँभावनाओ पर विचार करने हेतू टीम-11 कि गठन योगी आदित्यनाथ के द्वारा किया गया। यह टीम इससे जुड़े मुद्दों पर विचार करेगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ऐसे अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों एवं मजदूरों को यूपी सरकार इन्हें कृषि विभाग एवं दुग्ध समितियों से जोड़ने का प्रयास करेगी।

Loading...