माइग्रेन के दर्द से बनानी है दूरी,तो कहें इन चीजों को अलविदा

आधे सिर के दर्द अर्थात माइग्रेन की समस्या जिन लोगों को होती है, वह अक्सर बैचेन और परेशान रहते हैं। गर्मी के मौसम में जब तापमान में तपिश बढ़ने लगती है तो माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति की समस्या भी बढ़ने लगती है। ऐसे में जरूरी है कि इस समस्या से बचने के लिए कुछ कारगर उपाय किए जाएं। इनमें सबसे जरूरी है आहार। कई बार आपका खानपान ही माइग्रेन अटैक का कारण बनता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि माइग्रेन पीड़ित व्यक्ति को किन चीजों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए-

गर्मियों में आइस्क्रीम और ठंडी चीजों का सेवन भले ही राहत देता हो लेकिन यह माइग्रेन के दर्द को बुलावा दे सकता है। इसके अलावा एक्सरसाइज के तुरंत बाद भी इन चीजों का सेवन ना करें।

चॉकलेट में कैफीन व बीटा-फेनीलेथाइलामीन नामक तत्व होता है। इससे ब्लड सेल्स में खिंचाव पैदा होता है, जो माइग्रेन के मरीजों के लिए हानिकारक है।

अगर आप भी पनीर खाने के शौकीन है तो बता दें कि गर्मियों में इसका सेवन भी माइग्रेन दर्द कारण बनता है। साथ ही सूखे मेवे, केला और संतरा जैसे फलों से माइग्रेन का दर्द बढ़ता है।

अधिक मात्रा में नमक, आचार और मिर्ची से भी परहेज करें क्योंकि इससे भी आपको असहनीय दर्द हो सकता है। इसके अलावा पिज्‍जा जैसे फास्‍ट फूड भी माइग्रेन के लिए हानिकारक हैं।

अक्सर लोग सिरदर्द दूर करने के लिए चाय या कॉफी पीते हैं लेकिन इसमें कैफीन पाया जाता है, जो दिमाग की नसों के काम में रूकावट पैदा करता है। साथ ही इससे ब्लड सर्कुलेशन भी धीमा हो जाता हौ, जो बाद में माइग्रेन का कारण बनता है।