Tomato Fever का केरल में कहर, 5 साल से कम उम्र के बच्चों पर मंडरा रहा खतरा

केरल से ख़बर आ रही है कि वहां करीब 82 लोगों को टोमैटो फ्लू या टोमैटो फीवर(Tomato Fever) हुआ है. राज्य का स्वास्थ्य विभाग नज़दीक से इस केस की पड़ताल कर रहा है. इस बीमारी के बारे में जितनी भी जानकारी आई है उसके मुताबिक़ यह 5 साल से कम के बच्चों पर अधिक असर डाल रही है.

क्या है यह टोमैटो फीवर?
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार इस बीमारी की अब तक सही-सही पहचान नहीं की जा चुकी है. यह जानना भी मुश्किल है कि यह चिकनगुनिया या डेंगू के असर से होने वाली बीमारी है या कोई अन्य समस्या है. यह बीमारी किसी भी अन्य वाइरल फ्लू की तरह ही है. सबसे बड़ी समस्या यह है कि इसका ख़तरा पांच साल से कम उम्र के बच्चों को बहुत अधिक है. इस फ्लू के 80 से अधिक केस के सामने आते हैं गांवों में बड़े पैमाने पर जागरूकता अभियान चलाया जाने लगा है. इस बीमारी को टोमैटो फीवर(Tomato Fever) इसलिए कहा जाता है क्योंकि पीड़ितों को टमाटर के आकार के चकते हो रहे हैं.

टोमैटो फीवर(Tomato Fever) के लक्षण
शरीर टमाटर के आकार के चकते इस बीमारी का प्रमुख लक्षण हैं. इसके साथ ही पीड़ितों ने मुंह सूखने और खुजली की शिकायत भी की है. कुछ पेशेंट ने टमाटर के आकर के फोड़ों में वर्म्स पड़ने की शिकायत भी है और ये वर्म्स उन चकतों पर फ़ैल भी रहे हैं.
इसके अतिरिक्त तेज़ बुखार, बदन दर्द, जोड़ों पर पर दर्द और मुंह में छाले भी इसके लक्षण के तौर पर नज़र आ रहे हैं. कुछ मरीज़ों ने हाथ, घुटने और अन्य स्थानों की त्वचा के बदरंग होने की शिकायत भी की है.