पैर छूना संस्कृति और बेहतर स्वास्थ्य का है अनुपम उदाहरण

हमारी भारतीय संस़्कृति में बड़े व्यक्तियों के पैर छूने को बहुत अधिक महत्व दिया गया है। भारत में लोग बड़ों के प्रति अपना आदर व सम्मान व्यक्त करने के लिए उनके पैर छूते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि पैर छूना सिर्फ हमारी संस्कृति का ही एक अहम हिस्सा नहीं है, बल्कि इसके कारण आप बहुत सी बीमारियों को भी खुद से दूर रख सकते हैं।

किसी के पैर छूने से आपको उनका आशीर्वाद तो मिलता ही है, साथ ही ऐसा करने से आपकी कमर और रीढ़ की हडडी को भी आराम मिलता है।आपका पैर छूने का तरीका भी बहुत महत्व रखता है। जब आप साष्टांग प्रणाम करते हैं तो आपके शरीर का तनावमुक्त हो जाता है।
घुटनों के बल बैठकर पैर छूने से जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है।जब आप आगे की ओर झुक किसी के पैर छूते हैं तो इससे आपके सिर में भी रक्त प्रवाह बढ़ता है, साथ ही आॅक्सीजन भी आपके दिमाग तक बेहतर तरीके से पहुंचती है। जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है।