प्रकृति का अनमोल उपहार है त्रिफला, जानिए इसके औषधीय गुण

त्रिफला हरड़ बहेड़ा व आंवला इन तीनो का औषधीय मिश्रण है। त्रिफला में रोग प्रतिरोधक, रोग नाशक व समस्त रोगों से छुटकारा दिलाने वाले औषधीय गुण है। त्रिफला प्रतिदिन होने वाली आम बीमारियो के लिए चाहे वह सिरदर्द हो या त्वचा के रोग, रक्त विकार या पाचन संबंधी रोग सभी के लिए बहुत फायदेमंद है। यह रोग प्रतिरोधक भी है। इसमें एंटी बायोटिक और एंटी सेप्टिक गुण भी है।

रोग प्रतिरोधक गुण– जिन व्यक्तियों में रोगों से लड़ने की शक्ति नही होती वह बार बार बीमार होते रहते है। उन व्यक्तियों को नित्य प्रति त्रिफला का प्रयोग करना चाहिए, जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और बीमारियों से लड़ने की ताकत आ जाती है। त्रिफला शरीर में एंटी बॉडी तत्वो को बढ़ावा देता है जिससे शरीर बैक्टीरिया मुक्त रहता है।

पेट संबंधी समस्या के लिए रामबाण – त्रिफला पेट के रोगों के लिए अमृत है। त्रिफला के तीनो औषधियों का मिश्रण पेट की पूरी तरह से सफाई कर देता है। इसके चूर्ण के प्रयोग से अफारा, पेट का दर्द, गैस आदि सभी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

कब्ज की समस्या करे दूर – कब्ज की समस्या में त्रिफला अत्यंत कारगर है। कितनी भी पुरानी कब्ज की समस्या क्यों न हो त्रिफला के सेवन से यह कुछ ही समय में दूर हो जाती है। इसका प्रयोग रात को गरम दूध या गरम पानी के साथ करें। त्रिफला को ईसब गोल के साथ मिलकर भी लिया जा सकता है।

आँखों की रोशनी बढ़ाए– नेत्रो की ज्योति बढ़ाने में त्रिफला एक वरदान है। इसके प्रयोग से आँखों की रोशनी में आश्चर्यजनक वृद्धि होती है। शाम को एक गिलास पानी में 1 चमच्च त्रिफला मिला ले। प्रातः इसे मसल कर व छान कर इस जल से अपनी आँखों को अच्छे से धोएं। ऐसा नित्य करने से आँखों की रोशनी में निश्चित ही वृद्धि होगी। त्रिफला के पानी को पीने से आँखों की ज्योति में बहुत फायदा होता है।

त्वचा रोगों में लाभदायक – त्रिफला त्वचा रोग में काफी फायदेमंद है। यह शरीर में मौजूद विषैले तत्वो को बाहर निकाल कर रक्त की शुद्धि करता है जिससे त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है और शरीर में किसी भी प्रकार का इन्फेक्शन होने का खतरा नही रहता।

यह भी पढ़ें:

क्या मैस्टरबेशन या सम्बन्ध बनाने के दौरान स्पर्म निकलने से शरीर की इम्युुनिटी पर असर पड़ता है? जानिए सही जवाब

 पाचन संबंधी हर समस्या होगी छूमंतर, अपनाएं ये आयुर्वेदिक तरीके