कई बीमारियों को ठीक करने की क्षमता तुलसी का पौधा रखता है

धार्मिक दृष्टि से आप सभी तुलसी का महत्व सभी जानते है। तुलसी में औषधीय गुण भी भरपूर मात्रा में पाए जाते है। दिल से सम्बंधित बीमारी हो या सर्दी जुखाम इन सभी रोगों के लिए तुलसी बहुत ही फायदेमंद है। तुलसी सांस के रोग, त्वचा रोग, गुर्दे की पत्थरी आदि में बहुत लाभदायक होती है। जानिये तुलसी के कुछ अन्य स्वास्थ्य लाभ –

सर्दी जुखाम – तुलसी, सर्दी जुखाम में बहुत फायदेमंद होती है। सर्दी , जुखाम होने पर तुलसी के पत्तों की चाय बना कर पीएं। आराम मिलेगा। कफ सिरप बनाने में भी तुलसी के अर्क को प्रयोग में लिया जाता है। तुलसी के पत्ते चबाने से खांसी में आराम मिलता है।

गले की खराश – तुलसी के पत्तो को चाय में उबालकर पीने से गले की खराश दूर होती है। तुलसी के पानी से आप गरारे भी कर सकते है। बच्चो के बुखार, उलटी और खांसी में यह बहुत ही असरदार है।

सांस – सांस से सम्बंधित बीमारियों के इलाज में तुलसी बहुत ही फायदेमंद है। तुलसी में शहद, अदरक मिला कर काढ़ा बनाकर पीएं। यह अस्थमा से भी आराम दिलाता है।

स्टोन – किडनी स्टोन के लिए तुलसी बहुत फायदेमंद है। यह गुर्दे को मजबूत बनाती है। तुलसी के अर्क में शहद मिलाकर पीने से गुर्दे की पत्थरी में बहुत आराम मिलता है।

कोलेस्ट्रॉल घटाए – तुलसी कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को घटाने में सहायक होती है।

अवसाद दूर करे – तुलसी अवसाद कम करती है क्यूंकि इसमें तनाव कम करने वाले गुण पाए जाते है । रोज़ाना 10 -12 पत्तों का सेवन करें।

त्वचा रोग – त्वचा सम्बन्धी समस्या को दूर करने में यह बहुत ही कारगर है। यह मुँह के छाले, अल्सर आदि रोगों में बहुत फायदेमंद है। तुलसी के रोज़ाना सेवन से मुँह का इन्फेक्शन दूर हो जाता है। दाद, खाज, खुजली में भी तुलसी के रस को लगाने से काफी फायदा मिलता है।

आलू त्वचा के लिए कारगर है, औषधीय गुणों से है भरपूर