हल्दी वाला दूध सर्दी -जुकाम में होता है कारगर, जानिए और भी कई बातें

हल्दी वाले दूध के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। हल्दी वाला दूध ब्लड को साफ करने से लेकर शरीर में इंसुलिन के कार्य में सुधार करने में मदद करता है। यह अनुशंसा की जाती है कि आप नियमित रूप से सोने से पहले एक गिलास हलदी वाला दूध जरूर पिएं। आमतौर पर जो दूध लोग पीते हैं वह पास के डेयरी से लेते हैं। लेकिन क्या आप कुछ अन्य प्रकार के दूध का उपयोग हल्दी के साथ कर सकते हैं? सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने इस बारे में कई बातें बताईं-

क्या हल्दी वाला दूध खांसी और सर्दी में मदद कर सकता है? हल्दी वाले दूध में एक चुटकी काली मिर्च और जायफल मिलाकर पीने से खांसी और सर्दी को कम करने में मदद मिल सकता है। जब तक आपको राहत नहीं मिलती है, तब तक हर रात इसे पिएं।

हल्दी वाला दूध तैयार करने के लिए किस दूध का उपयोग करना चाहिए? न्यूट्रीशनिस्ट रुजुता दिवेकर के अनुसार, आपको हल्दी वाले दूध को तैयार करने के लिए जिस दूध का इस्तेमाल करना चाहिए, वह फुल फैट मिल्क होना चाहिए। यह कोई लेबल, पैकेजिंग या ब्रांड नहीं है। यदि आप उन जगहों पर रहते हैं जहां इस दूध तक पहुंच पाना मुश्किल है, तो आप गाय के दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं। “दूध का सबसे अच्छा प्रकार वह है जो खराब हो जाता है (कुछ घंटों में जब प्रशीतित नहीं किया जाता है)। रुजुता दिवेकर अपनी इंस्टाग्राम पर हालिया पोस्ट में लिखती हैं।

आपको किस तरह की हल्दी का इस्तेमाल करना चाहिए? स्वास्थ्य विशेषज्ञ की सलाह देते हैं, आपके घर में मौजूद हल्दी का इस्तेमाल किया जा सकता है। अपने हल्दी पाउडर को उन दुकानों से खरीदें जो स्थानीय या प्राकृतिक रूप से उगाए गए हल्दी को बेचते हैं।

क्या सुबह के समय हल्दी वाले दूध का प्रभाव होता है? दीवेकर ने दावा किया है कि हल्दी वाला दूध जल्दी रिकवर करने में मदद करता है इसलिए सोने से पहले इसे पीना चाहिए। जब रात में पिया जाता है, तो हल्दी वाला दूध हार्मोनल इम्बैलेंस में सुधार लाता है। यह ना केवल आपको बेहतर नींद लाने में मदद करता है, बल्कि आपको तरोताजा और अधिक ऊर्जावान बनाने में भी मदद करता है।

क्या हल्दी वाले दूध में चीनी मिलाना सुरक्षित है? रुजुता दिवेकर हल्दी के दूध में एक चुटकी शक्कर या गुड़ मिलाकर पीने की सलाह देती हैं।

क्या हल्दी दूध मुंहासे के लिए सही होता है? हल्दी वाला दूध सिस्टिक मुंहासों को कम करने के लिए विशेष रूप से सहायक होता है जो पीसीओडी वाले लोगों को होता है।

यह भी पढ़े-

अजय देवगन की वजह से कभी 7 फेरे नहीं ले पायी तब्बू, ‘दृश्यम 2’ एक्ट्रेस ने लगाया था आरोप