केंद्र की तर्ज पर महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार, तीन बड़े चीनी प्रोजेक्ट्स पर लगाई रोक

देश में चीनी सामानों के बहिष्कार की मुहिम तेज होती दिखाई दे रही है। इसी कड़ी में अब महाराष्ट्र सरकार ने चीनी प्रोजेक्ट्स को लेकर बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत उद्धव ठाकरे सरकार ने चीन की तीन कंपनियों के साथ हुए करार को तोड़ दिया है। जानकारी के मुताबिक मैग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 समिट में प्रदेश सरकार ने तीन चीनी कंपनियों के साथ पांच हजार करोड़ के निवेश के प्रोजेक्ट पर साइन किये थे। लेकिन अब इन प्रोजेक्ट्स पर सरकार ने रोक लगा दी है।

महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने बताया कि प्रदेश सरकार ने यह फैसला केंद्र सरकार के परामर्श से लिया है। उन्होंने बताया कि भारत-चीन सीमा पर 20 भारतीय सैनिकों की हत्या से पहले प्रदेश सरकार ने इन प्रोजेक्ट्स को लेकर साइन किये थे। लेकिन सीमा संघर्ष के बाद उपजे विवाद की वजह से अब राज्य सरकार ने चीनी कंपनियों के साथ अन्य किसी प्रोजेक्ट्स पर हस्ताक्षर न करने का फैसला लिया है। यह फैसला विदेश मंत्रालय के कहने पर लिया गया है।

देसाई ने बताया कि राज्य सरकार ने मैग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 समिट के दौरान दुनियाभर की कंपनियों से 16000 करोड़ रुपये से अधिक के प्रोजेक्टस पर साइन किया था। जिसमें चीन की कंपनियां भी शामिल थी। चीन के अलावा अमेरिका, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और कई बड़ी कंपनियां इस समिट में शामिल हुई।

यह भी पढ़े: बिहार बोर्ड – आज से शुरू हो गई डमी रजिस्ट्रेशन कार्ड जाँच
यह भी पढ़े: मूँगफली दे एसिडिटी और कब्ज से राहत