कंगना से टकराव पर बोले उद्धव ठाकरे, कहा-मेरी चुप्पी का मतलब कमजोरी नहीं

अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना के बीच टकराव थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पूरे मामले पर चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कंगना और सुशांत सिंह राजपूत का नाम लिए बिना कहा कि उनकी चुप्पी को कमजोरी ना समझा जाए। फिलहाल उनका ध्यान कोरोना पर है और वे सही समय पर इस विषय पर बात करेंगे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

ठाकरे ने कहा कि उनकी सरकार कोविड-19 के हालात से निपटने के लिए प्रभावी तरीके से काम कर रही है। लेकिन कुछ लोगों को लग रहा है कि कोरोना खत्म हो गया है और उन्हें फिर राजनीति शुरू करनी चाहिए। लेकिन वे अभी राजनीति पर बात नहीं करेंगे। उनकी चुप्पी का मतलब ये नहीं कि उनके पास जवाब नहीं है। वे सीएम पद की गरिमा का पालन कर रहे है। बता दे अपने 40 मिनट के सम्बोधन में ठाकरे ने कंगना रनौत का नाम नहीं लिया।

कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 सितंबर से उनकी सरकार एक हेल्थ चेकअप मिशन लॉन्च कर रही है। जिसके तहत मेडिकल टीम घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी लेगी। सीएम ने कोरोना से लड़ने के लिए ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ नाम से एक अभियान शुरू करने का एलान किया।
उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है।

यह भी पढ़े: एस श्रीसंत पर लगा 7 साल का बैन खत्म, कहा-अपनी हर गेंद पर सर्वश्रेष्ठ देने को तैयार
यह भी पढ़े: वीआई ने पेश किया ‘वर्क फ्रॉम होम’ प्लान, 351 रुपये में मिलेगा 1000 जीबी डेटा

Loading...