कोरोना संकट ने रोकी मानवरहित गगनयान की उड़ान, भारत की महत्वाकांक्षी परियोजना हुई रद्द

मानवरहित उड़ान भरने की भारत की महत्वाकांक्षी गगनयान परियोजना रद्द कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक इसरो ने कोरोना संकट को देखते हुए इसमें बदलाव किया है। जिसके बाद अब यह गगनयान 2021 में उड़ान भरेगा। गौरतलब है कि मानवरहित उड़ान भरने के लिए पहले गगनयान को भेजने की योजना निर्धारित हुई थी। इसरो के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक के मुताबिक उनके पास मौजूद योजनाओं में गगनयान मानव रहित उड़ान इस साल के कार्यक्रम में नहीं है।

वैज्ञानिक ने बताया कि मानव रहित उड़ान को अगले साल तक बढ़ा देने से, 2022 तक मनुष्यों को अंतरिक्ष में भेजने की परिकल्पना पर प्रभाव पडेगा। वही इसरो के अध्यक्ष के. सिवन के मुताबिक मौजूदा परिस्तिथियों को देखते हुए इस साल मानव रहित उड़ान संभव नहीं हो सकेगी। उन्होंने बताया कि इसरो इस वक्त लगभग पांच से छह मिशनों की योजना तैयार कर रहा है, जिसमें GiSAT-1 भी शामिल है। इन सभी मिशनों का विवरण बाद में सार्वजनिक होगा।

सिवन ने बताया कि गगनयान के लिए इसरो ने जो योजनाएं तैयार की है। उनके मुताबिक मानव उड़ान से पहले दो मानव रहित उड़ाने भी कराई जानी है। जो मानवों को जहाज पर भेजने से पहले सभी प्रणालियों का परीक्षण करेगी। अब, अगले साल दो मानवरहित मिशन शुरू करने होंगे।

यह भी पढ़े: इंडीज के टेस्ट कप्तान जेसन होल्डर ने दिया बयान, कहा- क्रिकेट में नस्लवाद की बात मूर्खता है
यह भी पढ़े: अभिनेता जगेश मुक्ति का निधन, टीवी धारावाहिक ‘श्री गणेश’ से बनाई थी बड़ी पहचान