Uric Acid के मरीज अपनी डाइट में शामिल करें आंवला, जानिये और किन उपायों में मिलेगी राहत

बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कई तरह से आपके शरीर के लिए नुकसानदायक होता है। यह हाई ब्लड प्रेशर, जोड़ों में दर्द, सूजन, गठिया जैसी समस्याएं पैदा कर सकता है। गुर्दे खून में से अधिकतर यूरिक एसिड को साफ कर देते हैं, जो फिर मूत्र के माध्यम से शरीर से बहार निकल जाता है। लेकिन जब शरीर में यूरिक एसिड ज्यादा बनने लगता है या किडनी फिल्टर नहीं कर पाती तो खून में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ जाता है। ऐसे में यूरिक एसिड के मरीजों को अपनी डाइट का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। आंवले का सेवन यूरिक एसिड के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं यूरिक एसिड के मरीजों को और किन फूड्स का सेवन करना चाहिए-

आंवला: आंवला यूरिक एसिड के मरीजों के लिए रामबाण दवा की तरह काम करता है। आंवले का रस एलोवेरा जूस में मिलाकर पिएं। इससे ब्लड में यूरिक एसिड का लेवल कंट्रोल होता है। आंवला में एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन्स और मिनरल्स मौजूद होता है जिससे यूरिक एसिड के कारण होने वाली जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या दूर होती है।

सेब का सिरका: सेब का सिरका शरीर से यूरिक एसिड को कम करने में मददगार होता है। सेब के सिरके में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेंटरी गुण उच्च मात्रा में मौजूद होते हैं। यह शरीर में यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने का काम करते हैं, साथ ही यूरिक एसिड के कारण होने वाली परेशानियों को भी दूर करते हैं।

बेकिंग सोडा: बेकिंग सोडा यूरिक एसिड के लेवल को कम करने में मदद कर सकता है। बेकिंग सोडा शरीर में प्राकृतिक अल्कलाइन स्तर को सामान्य रखने में मदद करता है। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि सोडा यूरिक एसिड को और अधिक घुलनशील बना देता है. ऐसा होने पर यूरिक एसिड किडनी के जरिए बाहर आ जाता है।

अश्वगंधा: यूरिक एसिड को करने में अश्वगंधा बहुत लाभदायक होता है। एक चम्मच अश्वगन्धा पाउडर को एक चम्मच शहद में मिला लें। इसे एक गिलास हल्का गर्म या गुनगुना दूध के साथ पिएं। ध्यान रखें कि अगर आप गर्मियों के मौसम में यूरिक एसिड को कम करने के लिए दूध में अश्वगन्धा की मात्रा कम लें।

यह भी पढ़े-

सर्दियों में अंजीर खाने से दूर होगी थकान की समस्या, इन बीमारियों से भी छूटेगा पीछा