अमेरिका ने दिया भारतीयों को बड़ा झटका, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सस्पेंड किया H-1B वीजा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ग्रीन कार्ड स्थगन अवधि को साल के अंत तक बढ़ा दिया है। साथ ही नॉन-इमिग्रेंट वीजा जैसे एच-1बी को भी इस दायरे में लाने वाला एक आदेश जारी किया है। ट्रंप का कहना है की भविष्य में इसमें अस्थायी बदलाव कर इसे मेरिट बेस्ड बनाया जाएगा। इसमें अधिक सैलरी के आधार पर प्राथमिकता बनाई जायेगी। खबर के मुताबिक अमेरिका ने H-18, H-4, H-2B, j वीजा की कुछ कैटिगरी, L-1 वीजा को सस्पेंड कर दिया है।

ट्रंप द्वारा इन बदलावों को करने का पहला उद्देशय पहले अमेरिकी नागरिकों को नौकरी उपलब्ध कराना है। दरअसल, कोरोना महामारी से उपजे संकट ने अमेरिका में बेरोजगारी को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा दिया है। हालांकि इन उपायों को करने से अमेरिकियों को सिर्फ 5 लाख 25 हजार नौकरियां ही उपलब्ध होंगी। बता दे हाई स्किल्ड नॉन इमीग्रेंट एच-1बी वीजा को सस्पेंड किये जाने से भारतीय प्रफेशनल्स पर नकारात्मक असर पड़ेगा।

दरअसल, अमेरिका में हाई स्किल्ड नॉन इमीग्रेंट एच-1बी वीजा का सबसे ज्यादा फायदा उठाने वाले सिर्फ भारतीय ही थे। साल भर में दिए जाने वाले 85,000 वीजा में से 70 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी भारतीयों की थी। यह वीजा धारक के पत्नी को ग्रीन कार्ड मिलने तक वर्क परमिट की सुविधा प्रदान करता है।

यह भी पढ़े: भारत के व्यापारिक हमले से तिलमिलाया चीन, छोटे देशों के साथ मिलकर कर रहा धोखाधड़ी
यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में ढ़ेर किये दो आतंकी, CRPF जवान शहीद