करैं आंवला का सेवन काले, लम्बे और घने बालों के लिये

आधुनिक जीवन शैली ने हमारे जीवन को चुनौतीपूर्ण बना दिया है ।अनियमित दिनचर्या एवं फास्ट फूड के कारण हमारे पूरे शरीर पर बहुत ही बुरा दुष्परिणाम हो रहा है। इन दुष्परिणामों में गंजापन, बाल का बहुत झड़ना ,गैस, कब्ज ,हृदय रोग ,वीर्यदोष, खांसी व श्वास रोग आम बात हो गई है। इन बीमारियों को रोकने के लिए आप पृथ्वी के अमृत आंवले का सेवन कर के शरीर की सारी बीमारियो को दूर हो कर सकते हैं।

आंवला में विटामिन सी भारी मात्रा में पाया जाता है और इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी कभी नष्ट नहीं होता। आंवला वीर्य और मर्दानगी को बढ़ाता है। चर्बी को घटाकर मोटापा कम करता है। सिर के बालों को काले लंबे और घने रखता है। आंवले का सेवन मुरब्बा या कच्चा आंवला की चटनी बनाकर किया जा सकता है ।

उपरोक्त बीमारियों में आंवले का चूर्ण ताजे पानी के साथ सेवन करने से बल वीर्य और मर्दानगी बढ़ती है । आंवले का रोज सेवन करने से सिर के बाल घने और काले रहते हैं ।

आंवले के रस को निकालकर बालों में लगाने से बाल असमय सफेद नहीं होते और झड़ते भी नहीं ।आंवले का नित्य प्रयोग करने से शरीर पूर्णतया निरोग रहता है। यह कहने की बात नहीं है ऐसा भारतीय ग्रंथों में लिखा गया है खानपान में आंवले का सेवन करने से शरीर पूर्णतया निरोग रहता है ।

आंवले के सौ ग्राम रस में 921 मिलीग्राम विटामिन सी पाया जाता है ।आंवले में प्रोटीन, वसा ,खनिज द्रव्य, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम ,फास्फोरस ,गैलिक एसिड, ग्लूकोज ,एल्ब्यूमिन आदि तत्त्व भारी मात्रा में पाए जाते हैं ।आंवले को धरती पर मनुष्य की सेहत के लिए वरदान माना जाता है।

यह भी पढ़ें-

खाने के तुरंत बाद नहीं सोना चाहिये