Breaking News
Home / ज्योतिष / घर को सजाएं इन रंगों से, आएगी खुशहाली और समृद्धि

घर को सजाएं इन रंगों से, आएगी खुशहाली और समृद्धि

घर को सजाने में रंगों का एक अहम स्थान होता है। किसी भी दीवार पर किए गए रंग उस कमरे का पूरा लुक ही बदल देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यही रंग जीवन में खुशहाली और समृद्धि लेकर आते हैं। बस जरूरत है कि इनका प्रयोग करते समय वास्तु के नियमों का ध्यान रखा जाए। दरअसल, वास्तु के अनुसार अलग-अलग दिशाओं में अलग-अलग रंगों का प्रभाव घर में पॉजिटिव एनर्जी लाने में मददगार साबित हो सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, प्रत्येक दिशा के लिए एक निश्चित रंग है, जो उस दिशा के देवी-देवता से जुड़ा हुआ है। इसके साथ ही प्रत्येक दिशा किसी न किसी ग्रह का प्रतिनिधित्व करती है और उस दिशा में किसी रंग विशेष का प्रयोग शुभ या अशुभ फलदायक होता है। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि किसी भी रंग का चयन करते समय दिशा और उसके प्रभाव के बारे में जाना जाए-

अगर आप पूर्व दिशा की दीवार पर रंग करवा रही हैं तो यहाँ पर आप भूरे रंग, हरे रंग या पिस्ता वाले हरे रंग का प्रयोग भी कर सकते हैं। यह दिशा सूर्य की मानी जाती है।

Loading...

वहीं पश्चिम दिशा में स्लेटी रंग का उपयोग करना सर्वोत्तम माना गया है। यह रंग संतोष और परिपक्वता प्रदान करता है। इस दिशा का स्वामी शनि है।

उत्तर दिशा का स्वामी बुध है। इस दिशा में हरा रंग शुभ फलदायी है। वैसे आप हरे रंग के अतिरिक्त नीले रंग का प्रयोग भी कर सकती हैं।

मंगल दक्षिण दिशा का स्वामी है। इस दिशा के लिए लाल या पर्पल रंग को ही चुनें।

उत्तर-पूर्व दिशा का स्वामी बृहस्पति है। इस दिशा में पीला रंग होना चाहिए। वैसे आप यहां पर बेज रंग का प्रयोग भी कर सकती हैं।

उत्तर-पश्चिम दिशा चन्द्रमा की है। उत्तर-पश्चिम में सफेद रंग या सिल्वर रंग का प्रयोग सुख समृद्धि में वृद्धि करने के साथ-साथ मन को शांति भी प्रदान करता है।

दक्षिण-पूर्व दिशा का स्वामी शुक्र है। इस दिशा में सफेद रंग होना चाहिए, जो खूबसूरती, उत्साह और सौभाग्य में वृद्धि करता है। यहाँ पर आप हरा रंग या पिस्ता वाले हरे रंग का प्रयोग भी कर सकती हैं।

दक्षिण-पश्चिम दिशा का स्वामी राहू है। यहां नीला रंग उपयोग करने की सलाह दी जाती है, जो साहस का प्रतीक है। इस दिशा में आप बेज रंग का प्रयोग भी कर सकते है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *