प्रेग्नेंसी में करें केसर का सेवन, मिलेंगा जबर्दस्त लाभ

केसर की महक किसी भी डिश में स्वाद का तड़का लगा देती है। यूं तो कई तरह की मिठाईयों से लेकर आहार में केसर का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अक्सर महिलाएं इस कशमकश में होती हैं कि गर्भावस्था में इसका सेवन सुरक्षित है या नहीं। एक गर्भवती महिला भी केसर का सेवन कर सकती है, लेकिन उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसकी मात्रा बेहद सीमित हो। चूंकि इसकी तासीर गर्म होती है, इसलिए आवश्यकता से अधिक इसका सेवन गर्भवती स्त्री के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। अगर आप प्रेग्नेंसी में सही मात्रा और सही समय का ध्यान रखते हुए केसर का इस्तेमाल करती हैं तो इसके कई चमत्कारी फायदे हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके कुछ बेहतरीन लाभों के बारे में-

गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है, जब महिला के भीतर हार्मोनल बदलाव काफी तेजी से होते हैं। जिसके परिणामस्वरूप महिला को कई तरह के मूड स्विंग होते है। गर्भवती स्त्री बिना किसी कारणवश गुस्सा, चिड़चिड़ाहट, बिना किसी बात के रोने जैसा महसूस करती है। लेकिन केसर का सेवन इस तरह के मूड स्विंग्स को नियंत्रित करता है।

अगर गर्भावस्था में आपको हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी है तो केसर का सेवन करें। केसर में मौजूद पोटैशियम और क्रोसेटिन ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।

गर्भावस्था में एक परेशानी अधिकतर महिलाओं को देखने को मिलती है, वह है मॉर्निंग सिकनेस। सुबह उठते समय जी-मचलाना, उल्टी आना व सुस्ती महसूस होने जैसी कई समस्याएं प्रेग्नेंसी में आम हैं। ऐसे में केसर काफी मददगार साबित हो सकता है।

चूंकि इस अवस्था में महिला की आयरन की आवश्यकता बढ़ जाती है। इसलिए प्रेग्नेंट महिला को आयरनयुक्त चीज़ों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। केसर में आयरन होता है जो हिमोग्लोबिन बढ़ाने में मदद करता है।