ब्रैस्ट कैंसर से निजात पाने के लिए करें इन फूड्स का सेवन

ब्रेस्ट कैंसर एक बहुत ही खतरनाक रोग है, जिससे कई लोगों की मौत हो जाती है। आपको बता दे की पुरुषो के मुकाबले औरतों में इसका खतरा बहुत अधिक होता है। यह इतनी अधिक तेजी से बढ़ रहा है कि आगामी 2020 तक ब्रेस्ट कैंसर के तकरीबन 17.3 लाख से ज्यादा नए रोगी पैदा हो जाएंगे । जानकारों की मानें तो तकरीबन 8.8 लाख लोगों की इससे मौत हो जाएगी। आपको बता दे की यह 30 से 50 साल की महिलाओं में लगातार तेजी से बढ़ रहा है। आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताएगें जो कैंसर के खतरे को बहुत अधिक बढ़ाते है। इन फूड्स का उपयोग कर आप इस रोग के खतरे को कम कर सकते हैं।

1. दूध
हमारी सेहत के लिए दूध बहुत लाभदायक माना जाता है आपको बता दे की आजकल इसमे बहुत ज्यादा मिलावट की जाती है। आपको बता दे की किसान दूध की मात्रा बढ़ाने के लिए जानवरों को ऑक्सीटोसिन और rGBH जैसे कई सारे केमिकल्स वाले तेज टीके लगाते हैं। इन केमिक्लस से दूध की मात्रा तो बढ़ जाती हैं लेकिन जब यह दूध या इस दूध से बने प्रोडक्ट हमारे शरीर में जाते हैं तो हमारे सेल और DNA को अत्यधिक नुकसान पहुंचाते हैं जिससे ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है।

2. ट्रांस फैट्स का सेवन
आपको बता दे की सभी तरह के फैट्स आपके लिए बहुत हानिकारक नहीं होते हैं लेकिन प्रॉसेस्ड फूड्स से मिलने वाले फैट से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा अत्यधिक हो जाता है। ये फैट बिस्किट, फ्राइड फूड्स, डोनट्स, पेस्ट्रीज, केक, कुकीज और फास्ट फूड्स में अत्यधिक पाया जाता है।

3. प्रॉसेस्ड रेड मीट
आपको बता दे की रेड मीट में प्रोटिन और जरुरी पोषक तत्व होते हैं जो हैल्दी डाइट का हिस्सा है लेकिन आपकी जानकारी के लिए यह बता दें कि आजकल रेड मीटस से भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बहुत तेजी से बढ़ रहा है। प्रॉसेस्ड मीट में प्रिजर्वेटिव्स और नमक का उपयोग ज्यादा किया जाता है। इसमें हानिकारक फैट की मात्रा भी बहुत अत्यधिक होती है।

4.वेजिटेबल ऑयल
वनस्पति तेल के अत्यधिक इस्तेमाल से भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बहुत तेजी से बढ़ता है। सनफ्लावर ऑयल, सोयाबीन ऑयल, कॉर्न और अन्य चीजें, जिनमें पॉलीसैचुरेटेड फैट की मात्रा अत्यधिक होती है इसे खाने में कम इस्तेमाल करें ताकि आप ब्रेस्ट कैंसर के खतरे से बच सकेें।