कीजिए ये आहार का सेवन, गर्भावस्था में हो सकता है फायदेमंद

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को खासतौर पर खान-पान का बेहद ध्यान रखना चाहिए, इस दौरान हल्का खाना लेना चाहिए। जिससे वह आसानी से पच सकें।

गर्भवती महिला को ये नहीं भूलना चाहिए कि वे जो भी खाती हैं उससे बच्चे को पोषण मिलता है, इसलिए गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ आहार का सेवन करना चाहिए। चलिए बताते हैं कुछ चिकित्सकों के मुताबिक गर्भावस्था के दौरान कौन—कौन सा आहार लेना चाहिए। लेकिन यह आहार लेने से पहले चिकित्सक से एक परामर्श जरूर लीजिए।

बेहद जरूरी हैं कैल्शियम

गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम बेहद जरूरी हैं। मां खून में कैल्शियम की आपूर्ति होने से बच्चे के शरीर की हड्डियां अच्छी तरह से विकसित होती है।

बच्चे के दिल, नसों और मांसपेशियों का विकास कैल्शियम पर निर्भर करता है, अगर मां कैल्शियम को पर्याप्त मात्रा में नहीं ले रही है तो फिर उसकी हड्डियों के भी कमजोर होने की संभावना बढ़ जाती है।

गर्भावस्था के दौरान हर रोज 200 मिलीग्राम कैल्शियम युक्त आहार लेना चाहिए।

कम वसा वाले डेयरी उत्पाद (स्किम्ड मिल्क, पनीर, दही), खाने लायक हड्डियां युक्त मछलियां जैसे सार्डिन, टोफू, नाश्ते में अंकुरित अनाज, ब्रेड, रोटी, साबूत बादाम, संतरे, सूखे मेवे जैसे अखरोट तथा हरी पत्तेदार सब्जियां कैल्शियम के अच्छे स्रोत हैं।

कैल्शियम सबसे जरूरी खुराक है। ये गर्भावस्था के दौरान मां की पोषण की जरूरतों को पूरा करता है। पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी लेने से भी शरीर में कैल्शियम की आपूर्ति होती है।

गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन जरूरी

गर्भावस्था के दौरान बच्चे तथा प्लेसेंटा के विकास के लिए प्रोटीन युक्त आहार आवश्यक रूप से लेना चाहिए।

यह जी मिचलाने और थकान से भी लड़ने में मददगार है।

महिला को कितना प्रोटीन लेना चाहिए, ये महिला के वजन पर निर्भर करता है। —सी फूड, लीन मीट, दाल, अंडा, दूध, बीन्स, अनसाल्टेड नट तथा सीड्स इसका अच्छा स्रोत है। 90 फीसदी गर्भवती इंडियन महिलाओं में प्रोटीन की कमी है।

प्रोटीन की मात्रा या कमी से संबंधित जानकारी के लिए पोषण विशेषज्ञ से संपर्क कीजिए। चिकित्सक भी प्रोटान से संबंधित खुराक के बारे में बता सकते हैं।

जरूरी हैं आयरन
-खून की कमी और संक्रमण से आयरन बचाता हैं। ये बच्चे तथा उसके दिमाग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पूरे गर्भावस्था के दौरान और अतिरिक्त रूप से 760 मिलीग्राम आयरन की आवश्यकता होती है।
-लीन मीट, स्किनलेश चिकन, मछली अच्छी तरह से पके अंडे, दाल, हरे पत्तीदार सब्जियां, फलियां, मेवा तथा अनाज आदि आयरन के अच्छे स्रोत हैं।

-शरीर में अच्छी तरह से आयरन की आपूर्ति के लिए विटामिन सी युक्त फलों का भोजन के साथ या भोजन करने के फौरन बाद सेवन कीजिए।
-चाय पीने के एक घंटे बाद या एक घंटे पहले आयरन से समृद्ध आहार लेने से बचना चाहिए।

यह भी पढे –

टेस्टी अनार रायता का कीजिए सेवन, सेहत रहेगी कूल