चीन में उइगर महिलाओं के साथ होता है ऐसा काम!

चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म की कई घटनाएं सामने आई हैं। चीन में अल्पसंख्यकों के लिए बनाए गए री एजुकेशन शिविरों में महिलाओं के साथ पूरी प्लानिंग के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया जाता है।

चीन के इन शिविरों में उइगर मुसलमानों को कैद करके रखा गया है। दावा किया जा रहा है कि इन शिविरों में उन्हें कई तरह की यातनाएं दी जाती हैं। बीबीसी ने इन बंदी कैंपों से भागी उइगर महिलाओं से बातचीत के आधार पर एक रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में एक उइगर महिला ने दावा है कि चीन के री एजुकेशन शिविर में आज भी योजनाबद्ध तरीके से दुष्कर्म और यौन उत्पीड़न होता है।

महिलाओं को खौफनाक यातनाएं दी जाती हैं। रिपोर्ट के मुताबिक जेल से भागने के बाद तुरुसुने जियावुदुन अमेरिका पहुंच गईं। उन्होंने बताया कि महिलाओं को हर रात सेल से उठा लिया जाता था। इसके बाद उनके साथ मास्क पहने लोग दुष्कर्म करते हैं। उन्होंने अपनी कहानी आगे बताते हुए जानकारी दी कि मेरे साथ तीन बार ऐसा हो चुका है। रिपोर्ट में वहां तैनात गार्डों के हवाले से भी यह बात कही गई है।

इन शिविरों में दस लाख से ज्यादा महिला और पुरुषों को रखा गया है। इस पर चीन का कहना है कि इन शिविरों को मुस्लिम और अन्य समुदाय के लोगों को दोबारा शिक्षित करने के लिए बनाया गया था। मानवाधिकार संगठनों ने चीन के इन शिविरों के खिलाफ आरोप लगाया है कि यहां उइगर समुदाय के लोगों के मानवाधिकारों का उल्लंघन हुआ है।

अमेरिका पहुंचीं तुरुसुने जियावुदुन ने बताया कि हर रात किसी ना किसी महिला को सेल से उठाकर ले जाया जाता है। मास्क पहने चीनी नागरिक महिलाओं के साथ दुष्कर्म करते हैं। तुरुसुने जियावुदुन ने बताया कि उनके साथ ऐसा तीन बार हो चुका है और दो से तीन लोगों ने ऐसा किया है।

यह भी पढ़ें:

किसान नेता राकेश टिकैत का बड़ा बयान

सहेलियों संग मिलकर पत्नी ने की पति की धुनाई, पूरा मामला जानकर चौंक जायेंगे आप