जल्द भरे जाएं शिक्षकों के खाली पद : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने छात्र-छात्राओं को पठन-पाठन में कठिनाई से बचाने के लिए अधिकारियों को शिक्षकों के रिक्त पद को जल्द से जल्द भरे जाने का आज निर्देश दिया। कुमार ने शुक्रवार को उनकी अध्यक्षता में यहां एक, अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में निर्देश देते हुए कहा कि शिक्षकों के खाली पदों को जल्द भरें। जहां शिक्षकों की कमी है, वहां शिक्षकों की जल्द बहाली हो ताकि छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन में कोई दिक्कत न हो। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी सरकारी माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शुरू की गई ‘उन्नयन बिहार’ कार्यक्रम का क्रियान्वयन ठीक ढंग से कराते रहें ताकि छात्र-छात्राएं इसका लाभ उठा सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय योजना के अंतर्गत बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गई ताकि छात्र-छात्राओं को आगे की पढ़ाई करने में किसी प्रकार की दिक्कत न हो। इस योजना का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से कराएं और छात्र-छात्राओं के बीच इसका प्रचार-प्रसार भी कराएं ताकि वे इस योजना का लाभ उठा सकें। केंद्र सरकार की ओर से शिक्षा विभाग की विभिन्न योजनाओं के लिए चालू वित्तीय वर्ष में राज्य को दी जानेवाली केंद्रांश की राशि अभी तक नहीं दी गयी है। इसको लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस संदर्भ में केन्द्र सरकार को पुनः पत्र लिखें।

कुमार ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में सुधार में कई कदम उठाए गए हैं। बड़ी संख्या में प्राथमिक विद्यालय एवं मध्य विद्यालय की स्थापना की गई है। विद्यालय भवनों का भी निर्माण कराया गया है। उन्होंने कहा कि सभी पंचायतों में उच्च माध्यमिक विद्यालय की स्थापना की गई है, इससे अब छात्र-छात्राओं को अपने पंचायत में ही उच्च माध्यमिक शिक्षा मिल सकेगी।

यह भी पढ़े: कोरोना के बाद बाल गिरना आम समस्या