भारत में जल्द हो सकती हैं टीकाकरण की शुरुआत, रूसी वैक्सीन आने की उम्मीद

रूस द्वारा निर्मित कोरोना टीका भारत में सबसे पहले टीकाकरण के लिए उलपब्ध कराये जाने की संभावना हैं। दरअसल, देश में बन रहे टीके अभी परीक्षण के दौर से गुजर रहे हैं और रूस का टीका बनकर तैयार हो चुका हैं। इसलिए भारत सरकार की रूस सरकार से इस टीके की उपलब्धता को लेकर बातचीत जारी हैं। हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने जुलाई 2021 तक देश में करीब 25 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका उलब्ध कराने का एलान किया था।

डॉ. हर्षवर्धन के भरोसे और दावे को देखा जाए तो संभावना बनती हैं कि रूस में बने टीके को भारत सरकार टीकाकरण के लिए उपलब्ध करा सकती हैं। यह इसलिए भी कहा जा सकता हैं क्योंकि देश में विकसित दो टीके तीसरे चरण के परीक्षण में हैं। वहीं, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का टीका भी भारत में तीसरे चरण में है। ऐसे में इन देशी टीकों के इस्तेमाल में अभी समय लगेगा और रूस का टीका बन चुका हैं और उनके देश में इस्तेमाल भी किया जा रहा हैं।

योजना आयोग के सदस्य डॉ. वी. के. पाल की अध्यक्षता में बनी एक उच्च स्तरीय समिति कोरोना के टीके के पूरे मामले को देख रही है। पिछली प्रेस वार्ता में समिति ने रूस सरकार से टीके के संदर्भ में चल रही बातचीत का भी जिक्र किया था। कहा जा रहा है कि रूस या तो भारत को तकनीक दे दे और सरकार टीका निर्माता कंपनियों से अपनी जरूरत के हिसाब से टीका बनवा ले। या फिर रूस से पर्याप्त मात्रा में टीका खरीदकर सरकार इस्तेमाल की मंजूर देदे।

यह भी पढ़े: कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर हॉस्पिटल से डिसचार्ज हुई तमन्ना भाटिया
यह भी पढ़े: BP प्रॉब्लम से बचने के लिए डाइट में अवश्य शामिल करें ये चीजें