जानिए वैशाख पूर्णिमा से जुड़ी खास बातें, राशि के अनुसार करें ये काम

वैशाख पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था तथा इसी तिथि को उन्हें कठिन साधना के बाद बुद्धत्व की प्राप्ति भी हुई थी. इस लिए यह तिथि बौद्ध धर्म के अलावा हिंदू धर्म में भी बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाती है. लोक मान्यता है भगवान बुद्ध, भगवान श्री विष्णु के अंतिम और 9वें अवतार थे.

इस बार पूर्णिमा की तिथि 2 दिन यानी 15 और 16 मई दोनों दिन है. ऐसे में किस दिन बौद्ध पूर्णिमा का पर्व मनाया जाए. संशय बना हुआ है. पंचांग के अनुसार वैशाख पूर्णिमा 15 मई को दोपहर 12 बजकर 45 मिनट से शुरू हो रही है जो अगले दिन 16 मई को 9 बजकर 45 मिनट तक रहेगी. चूँकि 16 तारीख को पूर्णिमा की उदया तिथि है. इसलिए बुद्ध पूर्णिमा 16 मई को मनाई जाएगी.

हिंदू धर्म में वैशाख पूर्णिमा का विशेष महत्त्व माना गया है। इस दिन स्नान, दान, पूजा अर्चना और व्रत करना उत्तम फलदायी होता है। इस दिन पूरे देश में भगवान बुद्ध की जयंती भी मनाई जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार वैशाख पूर्णिमा के दिन व्रत आदि धार्मिक कार्य करने से माँ लक्ष्मी और भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है। पूर्णिमा और सोमवार के दिन का संबंध चंद्रमा से होता है। इस बार पूर्णिमा सोमवार के दिन पड़ रही है जिसके कारण यह पूर्णिमा और भी खास हो जाती है। आज हम आपको बताएंगे कि वैशाख पूर्णिमा के दिन राशि के अनुसार किस वस्तु का दान करना सबसे उत्तम रहेगा।

सबसे पहले बात मेष राशि की बात करते हैं। मेष राशि के जातकों को वैशाख पूर्णिमा के दिन पानी का दान करना चाहिए या फिर किसी स्थान पर पीने के पानी की व्यवस्था भी कर सकते हैं। जैसे कि कोई पियाऊ लगवा दें या फिर कहीं पर मटके में पानी भरकर रखें।

वृषभ राशि के लोगों को वैशाख पूर्णिमा के दिन किसी जरूरतमंद व्यक्ति को चप्पल, जूते, छाते आदि वस्तुओं का दान करना चाहिए।

मिथुन राशि के जातकों के लिए इस बार वैशाख पूर्णिमा के दिन मौसमी फल जैसे की आम, तरबूज, खरबूजे आदि का दान करना उत्तम रहेगा।

कर्क राशि के जातकों को इस बार वैशाख पूर्णिमा के दिन छाते का दान करना चाहिए। कहते हैं कि इस महीने में छाते या फिर ऐसी वस्तु जो छाया प्रदान करती है उसका दान करने से भगवान विष्णु की कृपा मिलती है।

सिंह राशि के जातकों को इस बार वैशाख पूर्णिमा के दिन गरीब लोगों में सत्तू का दान करना चाहिए। इसके अलावा इस राशि के जातकों के लिये साबूत अनाज का दान भी उत्तम रहेगा।

वैशाख पूर्णिमा के दिन कन्या राशि के जातकों को अनाथ आश्रम या बाल आश्रम में ठंडक पहुंचाने वाली चीजें दान करें। जैसे की पंखा, कूलर इत्यादि

वैशाख पूर्णिमा के दिन तुला राशि के जातकों को छाया दान करने वाले पेड़ लगाने चाहिए। पेड़ बहुत ही आवश्यक है इससे प्रकृति का संतुलन बना रहता है।

वृश्चिक राशि के जातक वैशाख पूर्णिमा के दिन किसी ब्राह्मण को मटके के ऊपर तरबूज या खरबूजा रखकर दान करते हैं तो इससे उन्हें शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

पानी शीतलता प्रदान करने वाला पदार्थ है। वैशाख पूर्णिमा के दिन धनु राशि के जातक मंदिर के बाद ठंडे पानी की व्यवस्था करते हैं तो इससे उनके जीवन में शीतलता बनी रहेंगी।

मकर राशि के जातकों को वैशाख पूर्णिमा के दिन पशु-पक्षियों के लिए पानी का इंतजाम करना चाहिए। इससे उनसे त्रिदेव प्रसन्न होंगे और उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी।

कुंभ राशि के जातकों को वैशाख पूर्णिमा के दिन जरूरतमंद लोगों को सूती वस्त्रों का दान करना चाहिए। इससे उनसे शनि देव प्रसन्न होंगे और उन्हें शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

वैशाख पूर्णिमा के दिन मीन राशि के जातकों को तीर्थयात्रियों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था करनी चाहिए। इससे उन्हें शुभ फलों की प्राप्ति होगी