Breaking News
Home / ज़रा हटके / प्यार करने के लिए दिल की जरूरत होती है, हाथ-पैरों की नहीं!

प्यार करने के लिए दिल की जरूरत होती है, हाथ-पैरों की नहीं!

आज हम आपको वेलेंटाइन वीक के दौरान ऐसी लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको सुनकर आपको सच्चे प्यार का एहसास हो जाएगा. दरअसल यह कहानी है पंजाब के मोहाली जिले के रहने वाले विनोद और लक्ष्मी की, दोंनो पहली बार मंदिर में मिले और 1.5 साल तक मिलते ही रहे. फिर दोनों ने शादी का फैसला किया और उनके परिवारवालों ने शादी करने की इजाजत दे दी. फरवरी 2018 में दोनों ने शादी कर ली और अब शादी के एक साल हो चुके हैं लेकिन विनोद ने कभी लक्ष्मी के दिव्यांग होने की कमी खलने नहीं दी, लक्ष्मी हाथ-पैर नहीं होने के बावजूद भी विनोद ने उससे टूटकर प्यार किया.

Loading...

एक लड़के को बिना हाथ-पैर वाली लड़की से हो गया प्यार

जहां एक तरफ लक्ष्मी ने अपनी शादी का ख्वाब छोड़ दिया था वहीं भगवान के मंदिर में लक्ष्मी को उसका सच्चा प्यार और हमेशा साथ निभाने वाला जीवनसाथी मिल गया. विनोद का केवल एक पैर काम नहीं करता है लेकिन वह बैसाखी के सहारे चल लेता है. पहले दोनों के घरवाले मान नहीं रहे थे लेकिन एक संस्था चलाने वाले अशोक कुमार ने उनकी फैमिली को समझाया और दोनों के परिजन मान गए.

विनोद बताते हैं कि लक्ष्मी से उनकी मुलाकात मंदिर में हुई थी. करीब डेढ़ साल से हम एक दूसरे से मिल रहे थे. मुलाकातों का दौर कब प्यार में बदल गया, पता नहीं चला. हम दोनों अब एक दूसरे को पूरा महसूस कर रहे हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *