राजधानी समेत पूरे बिहार में चला वाहन चेकिंग अभियान, वसूला गया जुर्माना

आज पूरे बिहार मे विशेष तौर पर बगैर हेलमेट पहने और बिना सीटबेल्ट लगाए गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ स्पेशल ऑपरेशन चलाया गया। सड़कों पर बिना नम्बर की चलने वाली गाड़ियों पर भी विशेष अभियान चलाया जा रहा है। बिना नंबर प्लेट की गाड़ियां पकड़े जाने पर जुर्माना भरवाया गया। राजधानी समेत पूरे बिहार में इसको लेकर कार्रवाई की गई। जिलों में डीटीओ, एमवीआई, ईएसआई और ट्रैफिक पुलिस मिलकर जांच कर रही थी। इस दौरान सड़क सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने वाले 456 लोगों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं के तहत कार्रवाई की गई। उनसे लगभग 8.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया। सभी जिलों मे वाहन जाँच होने की वजह से चारो तरफ हडकंप मचा हुआ था।

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि बिना नंबर प्लेट की गाड़ियां पकड़े जाने पर जुर्माना लगाया जाएगा और गाड़ियों को जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही बिना नंबर लगे वाहन को बेचने वाले डीलर के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। अब लगातार सभी राष्ट्रीय राजमार्ग और राज्य हाइवे पर आगे भी बगैर हेलमेट-सीटबेल्ट के गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ ऑपरेशन जारी रहेगा। शहरी और ग्रामीण इलाकों की सड़कों पर समय-समय पर जांच जारी रहेगी। सचिव ने बताया कि मोटरवाहन संशोधित अधिनियम-2019 को सख्ती से बिहार में लागू किया गया है।  इसका सकारात्मक परिणाम सामने दिख रहा है। राजधानी समेत कई जिलों में हेलमेट इस्तेमाल करने का प्रतिशत पहले से बहुत बढ़ गया है। अब यह बढ़कर 90 से 95 प्रतिशत तक हो गया है। उन्होंने बताया कि हेलमेट-सीटबेल्ट सुरक्षा का कवच है। बाइक या दूसरे वाहन चलाते समय सुरक्षा नियमों का पालन कर खुद की और दूसरों की भी जान बचाई जा सकती है। उन्होने इस दौरान पब्लिक से अपील भी की, कि वो हेलमेट और सीटबेल्ट अपनी सुरक्षा के मद्येनजर लगाए न की पुलिस के डर से या जुर्माना से बचने के लिए।

Loading...