नाबालिग को वाहन देना पड़ा महंगा, 25000 रुपये का लगाया जुर्माना

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में अभिभावक को नाबालिग को वाहन सौंपना महंगा पड़ गया। पुलिस ने नाबालिग के अभिभावक पर 25000 रुपये का जुर्माना लगाया है। पिथौरागढ़ पुलिस के अनुसार जनपद में नाबालिगों के वाहन चलाने के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत अभिभावकों से नाबालिग बच्चों को वाहन नहीं देने की अपील की जा रही है और विरोध में सख्त कार्रवाई करने की भी चेतावनी दी जा रही है।

इस अभियान के तहत जाजरदेवल पुलिस की ओर से गुरुवार को थाना प्रभारी प्रताप सिंह नेगी की अगुवाई में वड्डा क्षेत्र में जांच अभियान चलाया गया। जांच टीम ने एक नाबालिग को वाहन चलाते हुए पकड़ लिया। पुलिस ने इसे गंभीर मानते हुए अभिभावकों को मौके पर बुलाकर 25000 रुपये का चालान कर दिया।

साथ ही वाहन संख्या यूके 05 डी 1150 को जब्त कर चालान को न्यायालय के लिये प्रेषित कर दिया। पुलिस ने यातायात नियमों का उल्लंघन के आरोप में छह अन्य वाहनों को भी जब्त किया गया है। पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह ने बताया कि नाबालिगों के वाहन चलाने के खिलाफ आगे भी कार्रवाई की जायेगी।

यह भी पढ़े: पूर्व मुख्यमंत्री राजे ने किए अधरदेवी के दर्शन