दिग्गज लेखक और गीतकार योगेश गौर का निधन, लता मंगेशकर ने अर्पित की विनम्र श्रद्धांजलि

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गज लेखक और गीतकार योगेश गौर का 77 साल की उम्र में आज निधन हो गया है। अमिताभ बच्चन और राजेश खन्ना की फिल्म ‘आनंद’ से अपने करियर की शुरुआत करने वाले योगेश गौर के निधन पर लता मंगेशकर ने दुःख व्यक्त किया है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा ‘मुझे अभी पता चला कि दिल को छूने वाले गीत लिखने वाले कवि योगेश जी का आज स्वर्गवास हुआ। ये सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ। योगेशी जी के लिखे कई गीत मैंने गाए। योगेश जी बहुत शांत और मधुर स्वभाव के इंसान थे। मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पण करती हूं।’

ऋषिकेश मुखर्जी और बासु चटर्जी जैसे बड़े निर्देशकों के साथ काम कर चुके योगेश गौर के द्वारा लिखे गए गीत ‘कहीं दूर जब दिन ढल जाए’ और ‘जिंदगी कैसी है पहेली हाय’ आज भी लोगों की जुबान पर है। उन्होंने फिल्म सखी रॉबिन (1962), छोटी सी बात (1976), बातों बातों में (1979), मंज़िल (1979), रजनीगंधा (1974), प्रियतमा (1977) मंजिलें और भी हैं (1974) और कई और फिल्मों के लिए गीत लिखे है।

यह भी पढ़े: जडेजा और ब्रावो को अपना क्वारंटाइन पार्टनर बनाना चाहते है सुरेश रैना, बताई बेहद खास वजह
यह भी पढ़े: पश्चिम बंगाल में 1 जून से धार्मिक स्थल और 8 जून से खुलेंगे सभी सरकारी और गैरसरकारी संस्थान

Loading...