विटामिन-डी की कमी भी है यूरिक एसिड बढ़ने की वजह, जानिये- इस कमी को पूरा करने का तरीका

शरीर में ज्यादा यूरिक एसिड जमने लगता है, तो कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने लगती है। इसलिए, ऐसी स्थिति में यूरिक एसिड डाइट का ध्यान रखना जरूरी है। ज्यादा प्यूरिन युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन से शरीर में अधिक मात्रा में यूरिक एसिड जमने लगता है। यूरिक ऐसिड की ज्यादा मात्रा से हार्ट डिजीज, हायपरटेंशन, किडनी स्टोन और गठिया जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं। शरीर में विटामिन-डी की कमी के कारण भी यूरिक एसिड की समस्या उत्पन्न हो सकती है। इस बीमारी से बचने के लिए आपको अपने खान-पान पर खास ध्यान देने की जरूरत है। यूरिक एसिड को घर बैठे ही नॉर्मल स्तर पर रखा जा सकता है। आइए जानते हैं शरीर में विटामिन-डी की कमी को कैसे पूरा करें-

सोया फूड: सोया फूड जैसे टोफू और सोयाबीन की बड़‍ियां खाने से भी विटमिन डी की कमी पूरी होती है। इसका सेवन करने से यूरिक एसिड के कारण होने वाली अन्य समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद तत्व जोड़ों में होने वाले सूजन और दर्द को भी कम करता है।

गाय का दूध: गाय का दूध विटामिन डी और कैल्शियम का एक बड़ा स्रोत है। इस प्रकार यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है जिससे यूरिक एसिड के कारण जोड़ों में होने वाले दर्द से राहत मिलती है। गाय के दूध में हीलिंग इफेक्ट होता है जो यूरिक एसिड के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

दलिया: ज्यादातर साबुत अनाज की तरह, दलिया भी विटामिन डी का एक अच्छा स्रोत है। इसके अलावा, ओट्स जरूरी मिनरल्स और विटामिन और जटिल कार्ब्स से भरपूर होता है। इसलिए यूरिक एसिड के मरीजों को रोजाना नाश्ते में दलिया का सेवन करना चाहिए। साथ ही उसमें कुछ फ्रूट्स मिलाकर खाना भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

संतरे का जूस: विटामिन डी से युक्‍त फलों में से एक संतरा भी है। संतरे का जूस हड्डियों को मजबूत करने वाले खनिज पदार्थों को अवशोषित कर सकता है जो कि शरीर को एनर्जी और मजबूती देने के लिए जरूरी होता है। एक कप संतरे के रस से पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन डी मिल जाता है।

मशरूम: मशरूम में भी विटामिन डी प्रचुर मात्रा में होता है। इसलिए यूरिक एसिड के मरीजों को अपनी डाइट में मशरूम शामिल करना चाहिए। इसका सेवन यूरिक एसिड के कारण होने वाली अन्य बीमारियों को भी दूर करता है। इसके अलावा जोड़ों में होने वाली सूजन और दर्द को भी कम करता है। साथ ही गाउट होने के खतरे को भी कम करता है।

यह भी पढ़े-

Nisha Rawal ने बेटे के बर्थडे के 3 दिन बाद दी ग्रैंड पार्टी, तनाज ईरानी भी बनी मेहमान