विटामिन डी होगा मधुमेह के इलाज में बहुत मददगार

वैज्ञानिकों का यह कहना है कि विटामिन D मधुमेह के इलाज में बहुत मदद कर सकता है। वैज्ञानिकों ने यह कहा है कि विटामिन D अग्नाशय में खराब बीटा कोशिकाओं का इलाज करने में बहुत मदद कर सकता है जो हार्मोन इंसुलिन का उत्पादन, भंडारण और उसे छोड़ने में बहुत मदद कर सकता है। इससे वह मधुमेह के इलाज के लिए एक नए दृष्टिकोण के लिए मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

जब बीटा कोशिकाएं पूर्ण्तः निष्क्रिय हो जाती हैं, तो शरीर रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन नहीं बना सकता है और ग्लूकोज का स्तर खतरनाक स्तर तक बढ़ सकता हैं। अमेरिका में साल्क इंस्टीट्यूट के अनुसंधानकर्ताओं ने एक अप्रत्याशित स्रोत विटामिन D का इस्तेमाल करके अपना लक्ष्य पूरा किया। कोशिकाओं और माउस मॉडल में विटामिन D क्षतिग्रस्त बीटा कोशिकाओं के इलाज में बहुत फायदेमंद साबित हुआ।

साल्क इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर ने कहा,” हम जानते हैं कि मधुमेह सूजन के कारण हुई एक बीमारी है। इस अध्ययन में हमने विटामिन D रिसेप्टर को सूजन और बीटा कोशिका के अस्तित्व दोनों के एक महत्वपूर्ण माड्यूलेटर के रूप में पहचाना।’’ साल्क इंस्टीट्यूट में एक शोध सहयोगी ने कहा, ” बीटा कोशिकाओं में विटामिन D की भूमिका को देखकर यह अध्ययन शुरू हुआ।

ऐसे पाएं फैटी लिवर की समस्या से छुटकारा