सुबह-सुबह हरी घास पर नंगे पांव चलने से मिलते हैं ये लाभ

हर रोज हमें सुबह मॉर्निंग वॉक पर जाना चाहिए। इससे हमारी सेहत ठीक रहती है। अगर आप भी सैर पर जा रहे हैं, सुबह-सुबह हरी घास पर नंगे पांव चलने से आपकी सेहत ठीक रहेगी। अगर सुबह की सैर आप हरी घास पर कीजिए और वे भी नंगे पांव तो उसके बड़े ही लाभ मिलेंगे। नंगे पैर घास पर चलना आपकी सेहत के लिहाज से बहुत लाभदायक  है। चलिए जानते हैं उन फायदों के बारे में…

-सुबह-सुबह ओस में भीगी घास पर चलने से आंखों की रोशनी ठीक और तेज रहती है। कुछ दिन नंगे पैर हरी घास पर चलने से आपका चश्मा उतर सकता है या फिर चश्मे का नंबर कम हो सकता है।
-हरी-भरी घास पर नंगे पैर चलना या बैठना। सुबह-सुबह ओस में भीगी घास पर चलना बहुत बेहतर माना जाता है जो पांवों के नीचे की कोमल कोशिकाओं से जुड़ी तंत्रिकाओं द्वारा मस्तिष्क तक राहत पहुंचाता है। घास पर कुछ देर तक बैठने, चलने से एलर्जी और छींक से भी मुक्ति पाई जा सकती है।

-आप जितनी देर हरी घास पर चलेंगे, उतने ही स्वस्थ तथा तनाव रहित रहेंगे। घास पर नंगे पांव चलने से धीरे-धीरे मांसपेशियों का खिंचाव कम होता है तथा तनाव रहित बनाता है। साथ ही ग्रीन थैरेपी से मस्तिष्क की शक्ति भी बढ़ती है।
-मधुमेह रोगियों के लिए हरी घास पर चलना और बैठना बेहद फायदेमंद माना जाता है। मधुमेह रोगी हरी घास पर नियमित गहरी सांस लेते हुए टहलें तो शरीर में ऑक्सीजन की पूर्ति होने से परेशानी से मुक्ति पाई जा सकती है।

यह भी पढ़ें –

पीएं ये जूस और पाएं सर्दी और जुकाम से राहत