श्रीलंका जाकर भारत के बारे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने क्या कहा?

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि पड़ोसियों से अच्छे और कारोबारी रिश्तों से गरीबी दूर हो सकती है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने श्रीलंका में पाकिस्तान-श्रीलंका ट्रेड और इन्वेस्टमेंट कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत के साथ केवल कश्मीर मुद्दे पर ही विवाद है। इसका समाधान बातचीत से ही हो सकता है।

इमरान खान ने कहा कि पड़ोसियों से अच्छे कारोबारी रिश्ते से गरीबी दूर की जा सकती है। इमरान खान ने कहा कि सत्ता में आते ही मैंने भारत से संपर्क किया और पीएम नरेंद्र मोदी को बताया कि उपमहाद्वीप की बेहतरी मतभेदों को बातचीत के जरिए दूर करने में है। हालांकि, मुझे सफलता नहीं मिली, लेकिन मैं आशावादी हूं कि बाद में समझ आएगी। कारोबारी रिश्तों को सुधाकर ही उपमहाद्वीप गरीबी का मुकाबला कर सकता है। इमरान ने कहा कि आइए हम सभ्य पड़ोसी की तरह जिएं जैसा कि यूरोपीय देश रहते हैं।

इमरान खान ने कहा कि यूरोपीय देश जर्मनी और फ्रांस कई बार लड़े, लेकिन आज वे इसके बारे में सोच भी नहीं सकते हैं, क्योंकि व्यापार से इतने जुड़े हुए हैं। इसी तरह उपमहाद्वीप के लिए मेरा सपना है कि हम मतभेदों का समाधान कर सकें।” इमरान खान ने कहा कि क्षेत्र में कश्मीर को लेकर ही एक विवाद है। इमरान ने कहा कि हम केवल यही चाहते हैं कि कश्मीर विवाद का समाधान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के मुताबिक हो और यह केवल बातचीत से संभव है।

यह भी पढ़ें:

पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने के लिए आरबीआई के गवर्नर ने क्या सुझाव दिया है?