आयोडीन की कमी से क्या होता है, आयुर्वेद में क्या है इसका उपाय

Pink himalayan salt background. Close up.

आयोडीन एक जरूरी पोषक तत्व है जिससे थाइरॉयड फंक्शन नियमित करता है, उसका विकास और इसकी कमी से तमाम मानसिक और शारीरिक बीमारियां भी होती हैं। आयुर्वेद में इस कमी के कारण होने वाली सभी समस्याओं या स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज है। शरीर में हर तत्‍व की संतुलित मात्रा हमें चुस्त दुरूस्‍त रखती है और हम बीमारियों के संक्रमण से भी बचे रहते हैं। ऐसा ही एक तत्‍व है आयोडीन, खाने में इसकी संतुलित मात्रा होना बहुत जरूरी है। आयोडीन हमारे आहार के प्रमुख पोषक तत्वों में से है और इसकी कमी से दिमाग़ और शरीर के विकास से जुड़ी कई बीमारियाँ होती हैं। दुनिया में प्रति वर्ष लाखों बच्चे सीखने की कमज़ोर क्षमता के साथ पैदा होते है क्योंकि उनकी माताओं ने गर्भावस्था के दौरान भोजन में आयोडिन की पर्याप्त मात्रा नहीं ली। आयोडीन की मदद से गर्दन के पास पाई जाने वाली – थायरॉयड ग्रंथि – विकास के लिए ज़रूरी हार्मोन पैदा करती है।

Symptoms of Iodine Deficiency
आयोडीन में कमी होने पर कुछ लक्षण विकसित होते हैं जैसे – कमजोरी होना, वजन बढ़ना, थकान महसूस होना, ठण्ड लग्न, त्याचा में रूखापन, बल झड़ना, हृदयगति धीमी होना, बातें याद काम रहना, गले में सूजन, मासिक धर्म अनियमित होना, गर्भावस्था में जटिलता, दम घुटना और अधिक नींद आना।

थाइरॉक्सिन टी-4 और ट्रीआइयोडोथायरोनाइन टी-3 दो प्रकार के थाइरॉइड हॉर्मोन होते हैं जो शरीर के हर सेल के मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करते हैं। शरीर में आयोडीन की कमी तब होती है जब हम कम आयोडीन रिच खाद्य पदार्थों का सेवन करने लगते हैं। ये थाइरॉइड ग्लैंड को कार्य करने में मदद करते है। आयोडीन जब अमीनो एसिड के साथ मिक्स होता है तो ये थाइरॉइड हॉर्मोन बनाता है जो हमारे शारीरिक कार्य में भी मदद करता है।

शरीर में आयोडीन की कमी से हमारे इम्यूनिटी सिस्टम पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसकी कमी थाइरॉइड की समस्या पैदा करता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे आयोडीन रिच फूड्स के बारे में जिन्हें आपको डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। ये शरीर में आयोडीन की कमी को पूरा कर थाइरॉइड हॉर्मोन को नियंत्रण में रखते हैं। खाने में जो हम नमक डालते हैं वो आयोडाइज़ नमक होता है। करीब एक ग्राम नमक में 77 माइक्रोग्राम आयोडीन होता है। तो अगर हम पूरे दिन में एक ग्राम नमक अपनी डाइट में शामिल कर रहे हैं तो ये हमें 77 माइक्रोग्राम आयोडीन देता है।

आलू, तुर्की, श्रींप, दूध, अंडा, दही, मीडियम साइज केला और स्ट्रॉबेरी को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। ये आपके शरीर में आयोडिन की कमी को पूरा करने में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढे –

हरी मिर्च वजन कम करने के अलावा और भी कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए होता है फायदेमंद, जानिए कैसे