क्या है मधुमेह की टाइप 1 और टाइप 2 स्टेज, जानिए इसके बारे में

शुगर यानि डायबिटीज (मधुमेह) के मरीज भारत में सबसे तेजी से बढ़ रहे हैं वल्र्ड हैल्थ रिपोर्ट में भी यह बात सामने आ चुकी है कि भारत का हर तीसरा व्यक्ति डायबिटीज से पीडि़त है। पैदा होते बच्चों में डायबिटीज के लक्षण पाए जा रहे हैं। इसे एक तरह से जींस बीमारी भी कहा जाता है।

अगर घर, परिवार में एक भी सदस्य को हो जाए तो धीरे-धीरे सब इसके घेरे में आ जाते हैं। हालांकि, यह बात सिद्धांतिक नहीं है बल्कि लोगों की सोच और नजरिए के आधार पर कही जाती है। डायबिटीज दो प्रकार की होती है टाइप-1, टाइप-2

टाइप-1 केस हालांकि, कम पाए जाते हैं लेकिन, ऐसी स्थिति में मरीज बहुत गंभीर स्टेज से गुजरता है, टाइप-1 डायबिटीज से पीडि़त मरीजों के इंसुलिन बिल्कुल नहीं बनता।

टाइप-2 में मरीज के पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बनता, जिसकी पूर्ति समय-समय पर इंजेक्शन ओर दवाईयों के जरिए होती है।

यह भी पढ़ें:

नींद की गोली लेने से पहले जान लीजिए इन बातों को!

इन चीजों के सेवन से दूर हो जाती है खून की कमी!