क्या है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, जिसका PM मोदी ने लाल किले से किया जिक्र

स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश में नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन लेकर आने का एलान किया। इस योजना के तहत देश के हर नागरिक को हेल्थ आईडी दी जाएगी, जिसमें उसका स्वास्थ्य का पूरा लेखा-जोखा होगा। इस योजना में हर नागरिक के स्वास्थ्य, डॉक्टर का लेखा-जोखा एक एप या वेबसाइट पर संचालित किया जाएगा जोकि सिर्फ व्यक्ति तक ही सीमित रहेंगे। उसके अनुमति देने के बाद ही दूसरा उस हेल्थ ब्योरा को देख सकेगा।

चार स्तंभ पर काम करेगा ‘नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’

हेल्थ आईडी

देश के हर नागरिक को मिलेगी एक यूनिक हेल्थ आईडी। जिसे आधार से लिंक करवाने और नहीं करवाने का विकल्प मिलेगा। यह आईडी राज्यों, अस्पतालों, पैथालॉजिकल लैब और फार्मा कंपनियों में इस्तेमाल होगी। साथ ही यह आईडी पूरी तरह से स्वैच्छिक तरीके से काम करेगी। आईडी में मौजूद नागरिक का लेखा-जोखा स्वतः ही सरकारी कम्यूनिटी क्लाउड में स्टोर हो जाएगा। यह डिजिलॉकर की तरह काम करेगा जिसमें जरूरी कागज सॉफ्ट कॉपी में जमा होंगे।

यदि व्यक्ति किसी तरह का कैश ट्रांसफर स्कीम का लाभ लेना चाहता है तो उसे अपनी हेल्थ आईडी को आधार कार्ड से लिंक करना होगा अन्यथा नहीं।

डिजिडॉक्टर

इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से देश के हर डॉक्टर को यूनिक पहचानकर्ता नंबर प्रदान किया जाएगा। यह नंबर राष्ट्रीय चिकित्सा परिषद की ओर से हर डॉक्टर को मिलेगा। डॉक्टर को डिजिटल हस्ताक्षर (बिल्कुल फ्री) दिया जाएगा, जिसकी मदद से वो मरीजों को प्रिसक्रिप्शन लिखा जाएगा।

स्वास्थ्य सुविधा पहचानकर्ता

डॉक्टर और मरीज की तरह ही हर स्वास्थ्य सुविधा जो एक यूनिक इलेक्ट्रॉनिक पहचान दी जाएगी। विविध आवश्यकताओं के लिए अलग-अलग एजेंसियों क्लीयरेंस और रजिस्ट्रेशन की जरुरत पड़ती है जिसे इस योजना के तहत आसान बनाया जाएगा। हर नागरिक को एक छतरी के नीचे लाया जाएगा।

निजी स्वास्थ्य रिकॉर्ड्स

जन्म से लेकर प्रतिरक्षा, सर्जरी, प्रयोगशाला टेस्ट तक सारी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी इन निजी रिकॉर्ड्स में शामिल होंगी। इससे हर नागरिक की हेल्थ आईडी लिंक होगी। स निजी हेल्थ रिकॉर्ड इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि इसमें अपने डाटा का स्वामित्व किसी व्यक्ति के पास ही होगा। यही इस एप का सबसे बड़ा फायदा है कि अगर शख्स या मरीज की सहमति नहीं होगी तो सरकार भी उसका डाटा देख नहीं पाएगा।

यह भी पढ़े: देश में बन रही कोरोना की तीन वैक्सीन, हर भारतीय तक पहुंचाने की रूप-रेखा तैयार: PM मोदी
यह भी पढ़े: भारत खुद मजबूत, सशक्त और सुरक्षित इसलिए विश्वस्तर पर भरोसेमंद: PM मोदी