जब सरकार है तो साहूकार के पास जाने की क्या जरूरत है: शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जब सरकार है तो साहूकार के पास जाने की क्या जरूरत है। CM चौहान ने “स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना” एवं “ग्रामीण कामगार सेतु पोर्टल” का शुभारंभ किया। ग्रामीण पथ विक्रेताओं को बिना ब्याज 10 हज़ार का ऋण दिया जाएगा।

चौहान ने बताया कि आवेदन करने के 30 दिन के अंदर बैंक द्वारा ऋण प्रकरण स्वीकृत किया जाएगा। प्रकरणों का निराकरण ‘पहले आओ-पहले पाओ’ के आधार पर होगा। योजना पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा चलाई जाएगी तथा जिले में इस योजना का नोडल अधिकारी कलेक्टर होगा। योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा दी गई है। आवेदक कामगार सेतु पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके अलावा कियोस्क के माध्यम से भी आवेदन किया जा सकेगा। ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत कार्यालयों में भी आवेदन करने की सुविधा होगी।

कोई शुल्क प्रतिभूति अथवा धरोहर राशि जमा नहीं करानी होगी

योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को किसी भी प्रकार का शुल्क, प्रतिभूति अथवा धरोहर राशि जमा नहीं करानी होगी। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि आवेदकों से किसी भी स्तर पर किसी भी प्रकार का कोई शुल्क न वसूला जाए।

‘तुम्हारे ठेले पर समोसा खाने आऊंगा’

मुख्यमंत्री चौहान ने महतगवां जिला छतरपुर के स्ट्रीट वेंडर सुनील अहिरवार से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत की। सुनील ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे लुधियाना में समोसे का ठेला लगाते थे, परंतु लॉकडाउन के कारण गांव वापस आ गए हैं तथा अब उनके पास ठेला लगाने के लिए राशि नहीं है। उन्हें स्ट्रीट वेंडर योजना में राशि मिलेगी तो वह दोबारा अपना ठेला लगाएंगे। मुख्यमंत्री ने उन्हें कार्य के लिए शुभकामना देते हुए कहा कि जब उनका ठेला चालू हो जाएगा तो वे स्वयं वहां समोसा खाने आएंगे।

यह भी पढ़े: पूजा भट्ट ने पुराना वीडियो शेयर कर कंगना को घेरने का किया प्रयास, मिला यह जवाब
यह भी पढ़े: चीन के साथ सीमा पर शांति के लिए जारी रहेगी सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत- विदेश मंत्रालय