Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / आम आदमी पार्टी कांग्रेस विधायको को क्यों अपनी ओर खींच रही है?

आम आदमी पार्टी कांग्रेस विधायको को क्यों अपनी ओर खींच रही है?

दिल्ली के विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरु हो चुकी है। यह प्रक्रिया 21 जनवरी तक चलेगी। 21 जनवरी तक उम्मीदवार अ्पना नामंकन भर सकते है। इसी बीच नेताओ की आयाराम-गयाराम की सियासत शुरु हो चुकी है।

किसी नेता को अगर एक पार्टी टिकट नही  देती तो वह दूसरी पार्टी में जाकर शामिल हो जाता है। दिल्ली में भी चुनाव के नजदीक आते ही नेता पार्टी बदलगे लगे। कांग्रेस के तीन बड़े नेता आम आदमी पार्टी में शामिल हो चुके है। कांग्रेस के शोएब इकबाल, प्रह्राद साहनी और राम सिंह नेता जी ने आम आदमी का दामन थाम लिया है। इससे पहले यह भी खबर आ रही है कि कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा  के बेटे विनय मिश्रा भी आम आदमी में  शामिल हो चुके है।

Loading...

माना जा रहा है कि कांग्रेस का वोट बैंक ज्यादतर 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी की तरफ चला गया था। अब केजरीवाल को यह डर है कि कही कांग्रेस उनका वोट बैंक खराब न कर दे। इसलिए ज्यादतर कांग्रेस की विधायकों को केजरीवाल अपनी तरफ खींच रहे है। फिलहाल के कांग्रेस के तीन बड़े नेता आम आदमी में शामिल हो चुके है।  2013 के चुनाव में कांग्रेस ने 8 सीटें जीती थीं। उसका वोट 24.55 परसेंट था। तो वही 2015 के चुनाव में कांग्रेस को 9.56 प्रतिशत वोट ही मिले थे। कांग्रेस के 62 विधायक अपनी जमानत बचाने में नाकाम थे।

राजनितिक जानकारों का कहना है कि दिल्ली का कुछ हिस्सा हरियाणा से लगता है। काग्रेस उन सीटों पर जाट नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा से चुनाव प्रचार करवाएगी। ताकि जाट लोगों का वोट बैंक बटोरा जा सके।

मनीष सिसोदिया ने कहा – दिल्ली की जनता से माफी मांगे अमित शाह

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *