क्यों होती है स्विमिंग पूल में आपकी आंखें लाल, जानिए !

पूल ये बाहर आते हैं तो आंखे लाल हो जाती हैं। लेकिन अगर आपको लगता है कि आंखे पूल के पानी में मिले क्लोरिन की वजह से होती हैं। तो आप बिलकुल गलत सोच रहे हैं। अब जानिए क्या है आखिर असली वजह।

स्विमिंग पूल के पानी को साफ रखने के लिए क्लोरीन का उपयोग किया जाता है। क्लोरीन पानी में पनपने वाले कीड़ों को मारने के लिए सबसे सस्ता और आसान तरीका है। इतना ही नहीं ये सैनेटाइज़र डायरिया, इंफेक्शन और चर्म-रोग से भी हमें बचाता है।

मगर कई दफा पूल में कूदने का बाद हमें बहुत ही अजीब से गंध आती है। हम सोचते हैं कि यह क्लोरीन होगा। हम क्लोरीन को आंखों में होने वाली जलन का भी ज़िम्मेदार मानते हैं। अमेरिका में हुई एक स्टडी के मुताबिक सिर्फ 5% लोगों का मानना है कि यह गंध क्लोरामाइन्स से आती है। क्लोरामाइन्स-एक कैमिकल जो पूल के पानी में क्लोरीन और मानव शरीर से निकलने वाले लिक्विड से बनता है।

आसान शब्दों में कहें तो जब इंसान का पसीना और पेशाब, क्लोरीन के साथ मिलता है। यूरीन पानी में क्लोरीन के साथ रिएक्ट करता है,तो क्लोरामाइन्स बनता है। यानी आंखों में होने वाली जलन की असली वजह पेशाब ही है।

यह भी पढ़ें-

हो जायेंगे हैरान शराब के ये फायदे जानकर !