फ्यूचर ग्रुप ने क्यों बेचा रिलायंस को अपना कारोबार, किशोर बियानी ने बताई वजह

फ्यूचर ग्रुप के संस्थापक किशोर बियानी ने ‘बिग बाजार’ का कारोबार रिलायंस को बेचने के पीछे की वजह का खुलासा किया हैं। उनका कहना है कि कोरोना लॉकडाउन की वजह से रिटेल स्टोर्स बंद होने के कारण पहले तीन-चार महीनों में लगभग 7,000 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ। जिसके बाद कारोबार को रिलायंस को बेचना पड़ा। उन्होंने कहा इस नुकसान के साथ सरवाइव करना आसान नहीं था क्योंकि कर्ज पर ब्याज और किराया बंद नहीं होता।

अगस्त महीने में रिलायंस ने फ्यूचर ग्रुप का रिटेल, होलसेल लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउस बिजनेस 24,713 करोड़ रुपये की कीमत में खरीद लिया था। किशोर बियानी ने बताया कि ग्रुप ने बीते 6 से सात सालों में कई छोटे स्टोर्स का अधिग्रहण किया। लेकिन कोरोना से उत्पन्न स्तिथि से बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं दिखाई दे रहा था। ऐसे में इससे बाहर निकलने के अलावा कोई रास्ता नहीं था। बियानी ने खुदरा विक्रेताओं के लिए इसे सबसे खराब स्तिथि करार दिया।

अमेजन ने हाल में भेजा था नोटिस

रिलायंस इंडस्ट्रीज और फ्यूचर ग्रुप की डील में एक नया अड़ंगा सामने आता दिखाई दे रहा हैं। हाल ही में अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप के प्रमोटरों को कानूनी नोटिस भेजा था, जिसके माध्यम से कहा गया कि फ्यूचर ग्रुप ने रिलायंस के साथ डील में एक नॉन-कंप्लीट कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन किया। कंपनी का कहना था कि फ्यूचर ग्रुप बिना अमेजन की इजाजत के रिलायंस के साथ अनुबंध नहीं कर सकती।

यह भी पढ़े: हेल्दी और चमकदार skin पाने के लिए अवश्य खाये ये चार फूड्स
यह भी पढ़े: पुदीना के औषधीय गुण, जाने यहां

Loading...