क्यों अपने टॉवल या हाथ पोंछने के नैपकिन कभी बाथरूम में न रखें, पढाई ये आर्टिकल

आपने कई बार ऐसा देखा होगा कि पोषक खान-पान, नियमित व्यायाम और संतुलित दिनचर्या होने के बावजूद भी पिछले कुछ समय से आपके घर में कोई न कोई अवश्य ही बीमार रहता है। तो कहीं इसका कारण आपका बाथरूम तो नहीं है। शायद आप चौंके तो नहीं। हां ऐसा भी हो सकता है।

क्योंकि फंगस, मोल्ड, मकडिय़ों के जाले, कीटों के ठिकानें आदि के ठिकाना बाथरूम हो सकता है। क्योंकि बाथरूम में हमेशा बहुत ज्यादा नमी बनी रहती है और इस वजह से सूक्ष्म जीवों के पनपने के लिए इससे उपयुक्त जगह और कोई नहीं हो सकती है।

यहां पर कॉकरोच, मक्खी, मच्छर और अन्य कीटों के अलावा फंगस या फफूद, बैक्टीरिया, वायरस आदि यहां आसानी से अपनी कॉलोनियां बना लेते है।

इन कारण अस्थमा, त्वचा संबंधी, संक्रमण, आंखों की तकलीफें, दांतों, बालों, नाखूनों आदि पर दुष्प्रभाव सर्दी-जुकाम आदि कई तकलीफें जकड़ लेती हैं। जानिए कैसे अपने बाथरूम को इन सभी से बचा कर परिवार को बीमारियों से सुरक्षित रखा जा सकता है।

अपने टॉवल या हाथ पोंछने के नैपकीन कभी बाथरूम में न रखें। ये नमी के साथ ही फंगस को भी ग्रहण करके आप तक पहुंचा सकते हैं। वाशिंग मशीन को बाथरूम में कभी भी न रखें।

यह भी पढ़ें-

जायफल है मुंह के छालों के लिए फायदेमंद