Breaking News
Home / ज़रा हटके / वेस्टर्न टॉयलेट के फ्लश में क्यों लगी होती है दो बटनें? जानिए इसके पीछे की वजह

वेस्टर्न टॉयलेट के फ्लश में क्यों लगी होती है दो बटनें? जानिए इसके पीछे की वजह

आमतौर पर आजकल भारत वर्ष के 90 फीसदी टॉयलेट्स में आपको वेस्टर्न तरीके के ही टॉयलेट देखने को मिलेंगे. शहरों में तो वेस्टर्न कम्मोड होना आमबात हो चुकी है, वहीं आपने कभी ध्यान दिया हो तो आपको वेस्टर्न में दो तरह के फ्लश बटन दिखाई दिए होंगे और आपके मन में कई बार सवाल आया होगा कि एक बटन छोटा और दूसरा बड़ा बटन क्यों दिया जाता है? तो चलिए आज हम आपको बता देते हैं.

वेस्टर्न टॉयलेट के फ्लश में दो बटन होने के पीछे का राज

दरअसल, इस तरह के बटन का आइडिया अमेरिका के औद्योगिक डिजायनर विक्टर पापानोक को आया था. शुरूआत में उन्होंने छोटे स्तर पर यह टेस्ट किया और यह टेस्ट आज दुनियाभर में इस्तेमाल किया जाता है. दरअसल आज दुनिया में पानी की बहुत मारामारी है ऐसे में कई लीटर पानी तो हम टॉयलेट या बाथरूम में ही बहा देते हैं जिसकी वजह से कई लीटर पानी बिना वजह ही बह जाता है.

Loading...

पानी की बचत करने के लिए

इसलिए वेस्टर्न टॉयलेट में ड्यूल फ्लश यानी दो बटन वाले फ्लश का इस्तेमाल भी पानी बचाने के लिए ही किया जाता है. वेस्टर्न टॉयलेट के फ्लश में बड़ा बटन सॉलिड वेस्ट रिमूवल के लिए होता है, जिसे दबाने से 6 लीटर से 9 लीटर पानी बहता है, जबकि छोटे वाले बटन को दबाने से बहने वाले पानी की मात्रा 3 से 4 लीटर ही होती है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *