महिला कमांडो की पहली यूनिट को कोबरा बटालियन में किया गया शामिल, दुर्गम जंगलों में भी लेंगी लोहा

देश की सबसे बड़ी केंद्रीय पुलिस बल सीआरपीएफ की महिला कमांडो की पहली बार कोबरा बटालियन में तैनाती की जा रही है। लेडी कोबरा कमांडो अब दुर्गम जंगलों में भी सीधे नक्सलियों से लोहा लेंगी।

जंगल वारफेयर में कई महीनों के कठोर प्रशिक्षण के बाद महिला कमांडो की पहली यूनिट को आज 6 फ़रवरी को कोबरा बटालियन में शामिल किया गया। 6 फ़रवरी को ही 1986 में सीआरपीएफ के पहले महिला बटालियन का गठन हुआ था। महिला बटालियन की स्थापना दिवस के मौके पर 30 से भी ज्यादा महिला योद्धाओं को कोबरा बटालियन में शामिल किया गया।

भारत सरकार ने विद्रोहियों और आतंकियों के साथ निपटने के लिए गुरिल्ला और जंगल वॉरफेयर तरह के ऑपरेशन के लिए कठोर कार्यवाही करने के लिए कमांडो बटालियन कोबरा यानी कमाण्डो बटालियन फॉर रेजोल्‍यूट एक्शन की स्‍थापना के लिए मंजूरी दी थी। फ़िलहाल 10 कोबरा बटालियन काम कर रही हैं।

यह भी पढ़ें:

इन्हीं कानूनों को बनाने के लिए पिछली सरकारें भी बहस करती रहीं

चक्का जाम के दौरान ट्रैक्टर पर ‘भिंडरावाले’ के झंडे पर क्या बोले राकेश टिकैत?