अखबार में खाना लपेटने से खाना हो जाता है बहुत ज़हरीला

स्कूल या दफ्तर के लिये खाना बनाते समय कई बार अचानक ही एलुमीनियम फॉइल खत्म हो जाती है, तो ऐसे में महिलाएं अक्सर बच्चों और बड़ों का खाना अखबार में ही लपेटकर उन्हें दे देती हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ऐसा करना सेहत के लिये कितना अधिक खतरनाक है।

भारतीय खाद्य सुरक्षा नियामक की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर आप अख़बार में खाना लपेटते हैं तो ये खाना आपके शरीर में कैंसर का रिस्क बहुत अधिक बढ़ा सकता है। FSSAI ने एक एडवाइज़री में यह कहा है कि अखबार में खाना लपेटने से खाना बहुत ज़हरीला हो जाता है और उसमें कैंसर जैसे रोग के तत्व पहुंच जाते हैं।

इस रिपोर्ट के मुताबिक अखबार को छापने में जो भी इंक यूज़ की जाती है उसमे कुछ बायोएक्टिव पदार्थ होते हैं यानि जब वो किसी जीवित प्राणी के संपर्क में आते हैं तो पूरी तरह एक्टिव हो जाते हैं…इसके अलावा भी इंक में कुछ ऐसा एडिटिव पिग्मेंट्स और हार्मफुल कलर्स मौजूद होते हैं जो इन्सानी सेहत के लिए बहुत हानिकारक पाए गए है। इसलिए FSSAI का यह कहना है कि छोटे होटल्स, रेस्तरां और ढ़ाबे आदि में खाना लपेटने के लिए अखबार के प्रयोग को कम करने के प्रयास किए जाने चाहिए, क्योंकि इससे लोग धीरे-धीरे कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का शिकार होने लगते हैं और ऐसे में उन लोगों को बहुत ज्यादा खतरा है जिनके अंगों में किसी न तरह किसी तरह की कमी है या फिर बुजुर्ग व्यक्तियों को इससे बहुत अधिक खतरा रहता है।