Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Spoiler: सात फेरों में बंधे अक्षरा-अभिमन्यु, शादी होते ही मिलने लगे नई दुल्हन को ताने

स्टार प्लस का दमदार सीरियल ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ इन दिनों खूब धूम मचा रहा है। प्रणाली राठौड़ और हर्षद चोपड़ा के शो में अक्षरा और अभिमन्यु शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं। दोनों की शादी को लेकर ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के फैंस में भी खूब एक्साइटमेंट है। बीते दिन शो में दिखाया गया कि नील और अभिमन्यु के बाकी भाई-बहन मिलकर अक्षरा के सैंडल चुरा लेते हैं और उससे नेक की मांग करने लगते हैं। लेकिन ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में आने वाले ट्विस्ट और टर्न्स यहीं पर खत्म नहीं होते हैं। प्रणाली राठौड़ और हर्षद चोपड़ा के शो में आगे ऐसा बहुत कुछ होने वाला है, जो फैंस को भी हैरान कर देगा।

अभिमन्यु और अक्षरा से हुई महिमा और डॉक्टर आनंद को जलन: अभिमन्यु और अक्षरा शादी के बंधन में बंधते, उससे पहले ही दोनों को एक कॉन्फ्रेंस में जाने का न्योता आ जाता है। यह न्योता महिमा और डॉक्टर आनंद पढ़ लेते हैं और कहते हैं कि अक्षरा डॉक्टर भी नहीं है, फिर भी वह अभिमन्यु के साथ कैसे जाएगी। उनके जवाब में महिमा कहती हैं, “यह तो शुरुआत है, आगे-आगे देखो होता क्या है।

आरोही को ताने मारेगा अभिमन्यु: अक्षरा और अभिमन्यु मंडप में बैठते हैं। पंडित जी मंत्र पढ़ना शुरू करते हैं, तभी अभिमन्यु उन्हें टोक देता है और कहता है कि वह आराम-आराम से मंत्र पढ़ें, उसे कोई जल्दी नहीं है। गठबंधन के लिए लड़की की बहन को बुलाया जाता है, जिसपर आरोही वहां आती है। लेकिन अभिमन्यु उसे ताना मारना शुरू कर देता है। वह कहता है, “अच्छे से, प्यार से मजबूती से बांधना। ऐसे मजबूत गांठ बांधना कि हमारे रिश्ते को कोई चाहकर भी तोड़ न पाए।” अभिमन्यु की बात सुनते ही आरोही उदास हो जाती है।

कायरव करेगा अक्षरा का कन्यादान: फेरों से पहले पंडित जी अक्षरा का कन्यादान करने के लिए कहते हैं, इसपर वंश मनीष और स्वर्णा को जाने के लिए कहता है। लेकिन वो दोनों कायरव को अक्षरा का कन्यादान करने के लिए आगे भेजते हैं। उन्हें देख अक्षरा रोने लगती है और कहती है, “जब से मेरे मां-पापा गए हैं, तब से इन्होंने ही हर फर्ज और जिम्मेदारी उठाई है।” अक्षरा की बातें सुन कायरव की आंखों में आंसू आ जाता है और वह कहता है, “काश कान्हा जी तेरे जैसी बहन हर किसी को दे।”

शादी के बंधन में बंधे अक्षरा और अभिमन्यु: अक्षरा और अभिमन्यु सात फेरे लेकर शादी के बंधन में बंधते हैं। अभिमन्यु, अक्षू की मांग में सिंदूर भरकर सभी रस्में पूरी करता है। लेकिन तभी सिंदूर नाक पर गिर जाता है, जिसे देखकर मिमी कहती हैं, “नाकर पर गिरा सिंदूर गहरे प्यार की निशानी होती है।

” दूसरी तरफ अक्षरा भी अभिमन्यु की मांग भरती है। लेकिन शादी के बाद भी अक्षू की मुसीबतें कम नहीं होतीं। वहां आए मेहमान ताना मारते हैं, “हमें तो अभी पता चला कि अक्षरा डॉक्टर नहीं हैं। डॉक्टर अभिमन्यु इतने बड़े सर्जन हैं, उन्हें तो कोई भी बड़ी डॉक्टर मिल जाती।” मेहमानों की बात सुनकर महिमा और हर्ष कहते हैं, “यह लव मैरिज है, अब प्यार अंधा होता है तो क्या कर सकते हैं।”

यह भी पढ़े-

बच्चों को लेटा कर कभी न पिलायें दूध, होती हैं ये खतरनाक समस्याएं