आप भी घर में ही दर्द से पा सकते हैं निजात इन नेचुरल पेन रिलीवर से

किसी भी तरह का दर्द होते ही हम सीधे पेन किलर या दर्द निवारक दवाओं की तरफ जाते हैं। उनका तुरंत सेवन करते हैं। बिना यह सोचे कि अगर घर में ही उपलब्ध नेचुरल चीजों से दर्द कम किया जा सकता है। तो इन दवाओं की आवश्यकता क्यों? आप चाहे तो घर में ही मौजूद नेचुरल पेन किलर की मदद से दर्द से राहत पा सकते हैं। आपको केमिकल युक्त दर्द निवारक दवाईयां लेने की जरूरत नहीं होगी।

अदरकः 

अदरक जो कि हर भारतीय किचन में आसानी से उपलब्ध होता है। यह एक नेचुरल पेन किलर का काम करता है। गैस, पेट में दर्द, चेस्ट में दर्द और मसल्स दर्द जैसी समस्या और साथ ही श्वसन तंत्र से जुड़े किसी भी दर्द खांसी, सर्दी, गले के दर्द को ठीक करने में अदरक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जब भी आपको इस तरह की किसी तकलीफ का सामना करना हो तो दवाओं से पहले अदरक का सेवन करना चाहिए।

लहसुनः 

अदरक की तरह लहसुन में भी दर्द को दूर करने की क्षमता पाई जाती है। यह एक बेहतरीन मसाला है जिसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। कान और ओरल कैविटी का दर्द, अर्थराइटिस से जुड़े दर्द को दूर करने में लहसुन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। दांत के दर्द में भी इससे राहत मिलती है। साथ ही घुटनों के दर्द और ज्वाइंट पेन से भी लहसुन राहत दिलाता है। अपने दैनिक दिनचर्या में कच्चे लहसुन को भोजन में शामिल करके आप इस तरह के दर्द से निजात पा सकते हैं।

लोंगः

अदरक और लहसुन की तरह ही लोंग का भी उपयोग हर भारतीय घर में मसाले के रूप में किया जाता है। लोंग दांत दर्द के लिए सबसे खास दवा मानी जाती हैं। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं। जो दर्द से राहत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। दर्द होने पर खासतौर पर दांत और कान के दर्द में आप लोंग को मुंह में कुछ देर रख सकते हैं, ऐसे करने से दर्द से राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें-

आपके सेहत के लिए एक्सरसाइज बंद करना हो सकता है बहुत खतरनाक