अपने दिल को हमेशा आप रख सकते है स्वस्थ, इसको खाकर

What is the difference between a heart attack, cardiac arrest and or heart failure?

आज के इस दौर में हम दिल की सेहत दुरुस्त रखने के लिए न जाने क्या-क्या जतन करते हैं। रोजाना कम से कम 100 ग्राम मूंगफली खाने से दिल के दौरे और आघात से बहुत हद तक बचा जा सकता है। यह हमारी खून में मिलने वाली खतरनाक वसा के स्तर को काफी घटाता है, जिससे धमनियां खुली-खुली रहती हैं।

मूंगफली का सेवन दिल के दौरे और स्ट्रोक से बचाने में बेहद कारगर हो सकता है। रोजाना के सामान्य भोजन के साथ 100 ग्राम के करीब मूंगफली खाने से ब्लड फैट का स्तर नियंत्रित रहता है। इससे हृदय संबंधी बीमारियों का कोई खतरा नहीं रहता है।

एथेरोस्कलेरोसिस, धमिनयों में सिकुड़न के कारण शरीर में रक्त का प्रवाह बाधित होता है। इसके कारण रक्त संचार के लिए दिल को काफी मेहनत करनी पड़ती है। परन्तु यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब धमनियों की दीवारों पर वसा, कोलेस्ट्रोल और अन्य पदार्थों का मिश्रण बहुत ज्यादा जमा हो जाता है, इसे ही प्लाक कहते हैं। इन्हीं के कारण धमनियों में रुकावट होती है और शरीर हृदय संबंधी बीमारियों का शिकार हो जाता है।

कुछ भी खाने के बाद ट्रिग्लाइसेराइड्स का स्तर बढ़ा जाने के कारण हमारी धमनियों में मामूली सिकुड़न होती है। खाने के साथ निर्धारित मात्रा में मूंगफली का सेवन करने से हमारी धमनियों में सिकुड़न को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

अगर हम रोज़ खाने के साथ मूंगफली का सेवन करते है तो यह हमारे शरीर में ट्रिग्लाइसेराइड्स के स्तर बढ़ने नहीं देता है। इसी के कारण धमनियों में सिकुड़न कम होती है और दिल संबंधी कई बीमारियों की शुरुआत होने से पहले ही इसको रोका जा सकता है।

यह भी पढ़ें-

जानिए अनार के इन अनोखें लाभों को