ऊपर-नीचे होते हॉर्मोन को इन आसान तरीकों से कर सकते हैं कंट्रोल

कब्ज, डायबिटीज जैसी समस्याओं के पीछे एक बड़ी वजह हॉर्मोन का ऊपर-नीचे होना होता है। इसलिए समय-समय पर हेल्थ चेकअप कराते रहना जरूरी है जिससे पता चल जाए कि ये नॉर्मल हैं या नहीं। तो अगर आपका हॉर्मोन गड़बड़ाया हुआ है तो इसे कुछ उपायों से मैनेज किया जा सकता है। आइए जानते हैं कैसे?

इंसुलिन

इस हार्मोन का मुख्य काम है ब्लड में ग्लूकोज का स्तर नियंत्रित करना तथा शरीर की हर कोशिका तक ऊर्जा पहुंचाना। इसके अलावा इंसुलिन शरीर के अंदर फैट स्टोर करने का भी काम करता है।। इसलिए, अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो जितना हो सके चीनी का सेवन कम कर दें। इससे आपका इंसुलिन का स्तर कंट्रोल में रहेगा।

लेप्टिन

शरीर में वसा कोशिकाएं लेप्टिन हार्मोन का स्राव करती हैं, जिसका काम मस्तिष्क के हाइपोथैलेमस को संकेत भेजकर भूख को नियंत्रित करना है। कुछ मामलों में (जैसे कि हाइपोथैलेमस में सूजन या इंसुलिन का बढ़ा हुआ स्तर) शरीर के इस हार्मोन के विपरीत काम करने लगता है, जिससे आपकी भूख बढ़ सकती है जिससे आपका वजन बढ़ सकता है। इसे ठीक करने के लिए, आपको वसायुक्त, शर्करायुक्त भोजन की मात्रा पर अंकुश लगाने की जरूरत होती है साथ ही रोजाना एक्सरसाइज करने की भी।

घ्रेलिन

यह एक और हार्मोन है जो आपके मस्तिष्क के हाइपोथैलेमस के साथ मिलकर काम करता है और आपको बताता है कि कब खाने की जरूरत है। हालांकि, मुसीबत तब होती है जब इस ‘हंगर हार्मोन’ का स्तर कम हो जाता है और आपके शरीर को समझ नहीं आता कि कब खाना चाहिए और कब नहीं। तो घ्रेलिन के लेवल को सामान्य बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका है कि प्रोटीन का सेवन सीमित मात्रा में करें।

कार्टिसोल

इसे ‘तनाव हार्मोन’ के रूप में भी जाना जाता है और यही वजह है कि जब भी आप तनाव में होते हैं तो ज्यादा खाते हैं। तो अगर आप अपना वजन नियंत्रण में रखना चाहते हैं तो कोर्टिसोल के लेवल को सामान्य रखना बेहद जरूरी है। इसके लिए अच्छी नींद लें, खुश रहें और जंक फूड भी अवॉयड करें।

एस्ट्रोजन

अगर आप अपने एस्ट्रोजन हॉर्मोन को नॉर्मल रखना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में फाइबर से भरपूर चीज़ों को शामिल करें। साथ ही फूलगोभी, गोभी, ब्रोकोली, आदि जैसी सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।

यह भी पढ़ें- अगर आप भी रहते है पुरे दिन थके-थके तो अवश्य पढ़ें यह खबर